Impacting Lives of Beginners: Mrs. Neena Bhatia, Principal ABC Public School

Impacting Lives of Beginners: Mrs. Neena Bhatia, Principal ABC Public School

  Who was your inspiration in Childhood ? My father was my inspiration in Childhood. He always preached us that luck sure comes at the door and knocks too but your efforts More »

Top of the Town: Ravindra Bhadana, MLA  Indian politician and a member of the 16th Legislative Assembly of Uttar Pradesh of India

Top of the Town: Ravindra Bhadana, MLA Indian politician and a member of the 16th Legislative Assembly of Uttar Pradesh of India

1. आपका बचपन में प्रेरणा स्त्रोत कौन था? मेरे पूज्य बाबाजी स्वर्गीय श्री रामसिंह जी । जो एक कृषक थे, एक सामाजिक व्यक्ति थे। उन्होंने जिंदगी में मुझे जीना सीखाया। प्ररेणा भी More »

Top of the Town: Mr. Vikram Parakash Lamba, MD American Institute of English Language Pvt. Ltd.

Top of the Town: Mr. Vikram Parakash Lamba, MD American Institute of English Language Pvt. Ltd.

Mr. Vikram Parakash Lamba, MD American Institute of English Language Pvt. Ltd. with 300+ Centers all across India Who was your inspiration in Childhood ? My mother and father were my source More »

Top of the town: Dr. Mohini Lamba, Director in American Kids Play School, Early Childhood Curriculum Developer, Montessori Teachers Trainer

Top of the town: Dr. Mohini Lamba, Director in American Kids Play School, Early Childhood Curriculum Developer, Montessori Teachers Trainer

Who was your inspiration in Childhood ? My inspiration was my family. I was surrounded by educators in my family. Ma Nanaji, Mamaji, my mother everybody was into academics. My Mamaji was More »

Top of the Town: Mrs. Monika Kohli, 52 years young model and actor, into print ads, T.V. commercials and movies

Top of the Town: Mrs. Monika Kohli, 52 years young model and actor, into print ads, T.V. commercials and movies

Who was your inspiration in Childhood ? I always believed that inspiration is from inside and not from outside. Only you can inspire yourself. Outward inspirations are momentary and do not stay More »

Top of the town: Respected Rajendra Aggarwal, MP

Top of the town: Respected Rajendra Aggarwal, MP

  Who was your inspiration in Childhood ? My dad and my uncle were my inspiration in my childhood. Both of them were associated with RSS. They inspired me to join RSS More »

Top of the town: Dr. Vishwajeet Bembi, renowned Physician and Social Worker

Top of the town: Dr. Vishwajeet Bembi, renowned Physician and Social Worker

Dr.Vishwajeet Bembi, renowned Physician and Social Worker Who was your inspiration in Childhood ? My mother was my inspiration in my childhood and she is still my inspiration. My brother had also More »

Top of the town: Mr. Rakesh Kohli, Chairman, Stag International known for sporting goods in different countries of the world.

Top of the town: Mr. Rakesh Kohli, Chairman, Stag International known for sporting goods in different countries of the world.

Who was your inspiration in Childhood ? My grandfather was my biggest inspiration. I had learnt the minutest details of life from him. I learnt a lot from him about business. Like More »

Top of the town: Mr. Prem Mehta, Principal City Vocational Public School

Top of the town: Mr. Prem Mehta, Principal City Vocational Public School

Who was your inspiration in Childhood ? I think in my childhood it was the national leaders like Gandhi ji and Nehru ji who inspired me the most because our exposure at More »

Top of the town: Dr. Mamta Varshney, Lecturer and Poetess

Top of the town: Dr. Mamta Varshney, Lecturer and Poetess

Who was your inspiration in Childhood? Radio was my source of inspiration as I used to listen to loads of music and radio and tape recorder were the only source to listen More »

 

थापर नगर घुरुदारे में श्री गुरु ग्रंथ साहिब गुरुगद्दी पर दस दिवसीय विशेष कार्येक्रमो के लिए बैठक

whatsapp-image-2016-10-20-at-11-27-56-am

डी ऍम ऑफिस पर धरना देते इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के कार्यकर्त्ता

whatsapp-image-2016-10-20-at-11-08-12-am whatsapp-image-2016-10-20-at-11-09-24-am

CBSE UGC NET Result For July 2016 To Be Declared Very Soon

CBSE, UGC NET result 2016: The Central Board of Secondary Education (CBSE) is expected to announce the result of it’s University Grants Commission (UGC) National Eligibility Test (NET) July 2016 examination sometime this week. Considering the previous trends followed by the board to out NET exam results, it was expected that CBSE/UGC NET July 2016 result will be declared on October 14th or 15th. That, however, didn’t happen and the board has not notified anything yet on the topic.

ugc net resultAs we had discussed in previous report, the result of UGC NET exam is usually published either before or on the same day with the notification uploading of the next NET exam. There are still high chances that CBSE may announce the UGC NET result for examinations held on July 10th and August 28th within next few days.

It is quite possible that the delay is due to the late holding of exam in Srinagar, nearly six weeks after the rest of the places and CBSE would be uploading the compiled result of all centers. Whatever the case maybe and after all these are mere speculations until CBSE issues any official notice.

केमिकल का मेल, स्वास्थ्य से हो रहा खेल

 chemical ka mel
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
 जसड़ सुल्तान नगर गांव समय दोपहर एक बजे। एक मकान में 15 से 20 लोग केमिकल से मिठाई तैयार कर रहे हैं। चारों तरफ गंदगी का अंबार है। तैयार रसगुल्लों में मक्खी और गंदगी भरी हुई है। एक युवक सोन पापड़ी तैयार करने के लिए ट्रे पर चप्पल पहने खड़ा है। मिल्क केक तैयार करने में पाउडर का इस्तेमाल किया जा रहा है। यह खुलासा अमर उजाला संवाददाता द्वारा किए गए स्टिंग में हुआ।

इस स्टिंग से यह साफ हो गया कि मिठाई में भारी केमिकल का प्रयोग कर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। मुनाफा कमाने के लिए केमिकल का इस्तेमाल किया जा रहा है। मिल्क केक, सोनपापड़ी से लेकर रसगुल्लों को बनाने में उन प्रतिबंधित कलरों और पाउडर का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसे फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) द्वारा प्रतिबंधित किया गया है। हर रोज यहां पर कई क्विंटल मिठाई तैयार कर शहरी मार्केट में खपाई जा रही है। जिस घर में मिठाई तैयार हो रही थी उसमें 15-20 लोगों की लेबर काम कर रही थी। आपसी बातचीत में एक युवक ने बताया कि ट्रे की साइज में सोन पापड़ी को लाने के लिए वो उसके ऊपर खड़ा है। उससे जब पूछा कि हाथों से क्यों नहीं करते तो उसने बताया कि हाथ से करने टाइम ज्यादा लगता है। सोन पापड़ी के साथ मिल्क केक और अन्य तरह की बर्फी भी ऐसे ही तैयार की जा रही है।

गोदाम दूसरी जगह संचालित
कार्रवाई के डर से जसड़ में दो स्तर पर काम हो रहा है। जहां भट्टी चल रही है, वहां 30-40 किलो मिठाई ही मिलेगी। हर कारोबारी ने गोदाम कहीं दूसरी जगह बनाया है। मिठाई तैयार होते ही उसे तत्काल घरों के अंदर बने गोदाम में भेज दिया जाता है।

सेटिंग का खेल
जसड़ गांव में दर्जनों घरों के अंदर मिठाई तैयार करने का काम होती है जिसमें से अधिकांश मिठाई तैयार करने के लिए कुछ इसी तरह का फार्मूला अपना रहे हैं, लेकिन चुनिंदा मामले को छोड़ दिया जाये तो कभी यहां पर कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हुई है। आरोप लग रहे हैं कि विभागीय अधिकारियों से सीधी सेटिंग है जिनकी शह पर पूरा कारोबार पनप रहा है।

मिलावटी मिठाइयों की देहरादून तक सप्लाई
एक बड़ी से कढ़ाही में चासनी तैयार हो रही थी। इसमें मक्खियां पड़ी थी। उसी चासनी को निकाल कर रसगुल्ले, मिल्क केक तैयार किया जा रहा था।  हर रोज यहां पर इसी तरह से मिठाई तैयार होती है। जो मेरठ में कई बड़े दुकानदारों तक पहुंचती हैं। यह भी जानकारी मिली कि दिल्ली, देहरादून, रुड़की व अन्य शहरों तक सप्लाई की जा रही है।

यह केमिकल होता है प्रयोग
कलर रसगुल्ले, मिल्क  केक, सोनपापड़ी, चमचम आदि मिठाइयां तैयार करने के लिए सिंथेटिक कलरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इनमें सूखा पाउडर, रिफाइंड, हाइड्रो, वनस्पति घी मिलाया जाता है। इतना ही नहीं दूध को फाड़ने के लिए भी केमिकल का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस दौरान दूध भी पाउडर डालकर तैयार किया जा रहा था।

इतनी सस्ती मिठाई कैसे  
आज दूध 40 रुपये से कम में नहीं मिलेगा। चीन भी 40 रुपये प्रति किलो है। यदि एक किलो मिल्क केक तैयार करना है तो उसमें 200 रुपये से अधिक का खर्चा आयेगा, लेकिन यहां पर 100 से 110 रुपये प्रति किलो में दिया जा रहा है। वहीं रसगुल्ला 70 रुपये, सोनपापड़ी 60 रुपये, मिल्क केक 110 रुपये प्रति किलो तैयार करके दिया जा रहा है। इसे शहर के व्यापारी खरीद कर 250 से 300 रुपये प्रति किलो बेच रहे हैं।

कई गांवों में चल रहा धंधा
जसड़ सुल्ताननगर सहित क्षेत्र के डाहर, गोटका, जैनपुर आदि गांवों में धड़ल्ले से यह धंधा चल रहा है। लोगों का कहना है कि बिना मिलीभगत के इतने बड़े स्तर पर यह काम संभव नहीं है।

चीनी माल के बहिष्कार का बाजार पर दिख रहा है असर, Made in China नहीं खरीद रहे लोग


चीनी माल।

अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर बसे उत्तर बंगाल में हर गली मुहल्ले में चाइना का सामान सहजता से मिलना आम बात है। यहां से चाइनीज सामग्री दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, भूटान, असम और पड़ोसी राष्ट्र बांग्लादेश धड़ल्ले से जाती है। यहां सौ से अधिक चायना से आयात निर्यात करने वाले लाइसेंसी व्यापारी है। शहर के कई मार्केट तो सिर्फ चाइनीज सामानों के लिए ही जाने जाते हैं। दीपावली पर यहां 300 करोड़ रुपए का कारोबार होना आम बात माना जाता है। सस्ता होने के कारण बाजार में घुसपैठ बना चुके चाइनीज उत्पादों को लोग नकारने का मन बना चुके हैं। उपभोक्ताओं का मेड इन इंडिया के प्रति लगाव बना रहा तो दीपावली पर चीनी उत्पादों के बाजार को बड़ा झटका लगना तय है। इन दिनों सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बदली हुई परिस्थितियों में चीन के पाकिस्तान के प्रति समर्थन से गुस्साए देशवासियों द्वारा मेड इन चाइना के बहिष्कार की मुहिम रंग ला रही है।

 

उत्तर बंगाल में व्यापारियों के मुताबिक इस दीपावली 80 करोड़ से अधिक के चाइनीज उत्पादों की बिक्री प्रभावित होने का अनुमान है। हांगकांग मार्केट में दीपावली पर बिकने वाले चाइनीज उत्पाद, जिनमें मुख्य रूप से सजावटी झालर, एलईडी लाइटें, प्रतिबंधित पटाखे, गणोश व लक्ष्मी की मूर्तियां, कपड़े, खिलौने, करवाचौथ और धनतेरस पर बिकने वाले बर्तनों समेत विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक्स सामान बाजारों में पड़े हैं।  कई दुकानदारों का कहना है कि दीपावली का सामान थोक व्यापारियों के गोदामों में ठसाठस भरा हुआ है।

व्यापारियों का कहना है कि इस दीपावली पर दिवालिया होना तय है। कई व्यापारियों ने खुलकर कहा कि मुनाफा कमाना तो दूर की बात है, इस बार फंसी हुई रकम निकल आए तो गनीमत है। जैसे-जैसे लोगों में जागरूकता बढ़ेगी वैसे ही चीनी उत्पादों की बिक्री पूरी तरह से बंद हो जाएगी। विश्व हिंदू परिषद, स्वदेशी जागरण मंच, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ी कई अन्य शाखाओं द्वारा 15 दिनों तक लगातार शहर से गांव स्तर पर चाइनीज उत्पादों का व्यापार और खुद उपयोग न करने की मुहिम चलाकर व्यापारियों से इसका पुरजोर विरोध करने की अपील करेंगे। इसके लिए पूरा एजंडा भी तैयार कर लिया है। एक व्यापारी ने बताया कि सामान इस बार ला चुके हैं वह तो धीरे-धीरे निकल जाएगा, लेकिन इसके बाद वह लोग चीनी उत्पादों का व्यापार न करने का संकल्प खुद लेंगे और दूसरे को भी संकल्प दिलाएंगे।

रात में बढ़ी सर्दी, दिन में गर्मी हुई कम

raat me badi sardi
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
अक्तूबर में सर्द हो रही रातों के बीच न्यूनतम पारा तीसरी बार 15 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। दिन में पारा अभी भी 34 डिग्री पर रुका है, लेकिन गर्मी का असर कम हो गया है। सर्द रातों से मौसम बदल रहा है।
आधा अक्तूबर बीत चुका है, लेकिन दिन का तापमान कम नहीं हो रहा। दिन की अपेक्षा रात का मौसम सर्द हो रहा है। पिछले पांच दिन में रात का तापमान तीसरी बार 15 डिग्री पर पहुंच गया। दिन में उमस गायब होने पर मौसम शुष्क हो गया है। हवा चलने से दिन में गर्मी से राहत मिली है। मौसम कार्यालय पर अधिकतम तापमान 34.0 डिग्री और न्यूनतम तापमान 15.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। अधिकतम आर्द्रता 60 और न्यूनतम 35 प्रतिशत दर्ज की गई। एक दिन पहले की अपेक्षा रात के तापमान में करीब डेढ़ डिग्री की गिरावट आई है। रात के तापमान में आ रही कमी से मौसम सर्द हो रहा है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि रात में सर्दी का असर बना रहेगा और दिन के तापमान में भी धीरे धीरे गिरावट आएगी।

इन तारीख को कम हुआ पारा
अगर अक्तूबर माह में अभी तक न्यूनतम तापमान तीन बार न्यूनतम डिग्री पर पहुंचा है। 16 अक्तूबर को 15.1 और 17 अक्तूबर 15.8 व 19 अक्तूबर को 15.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। रात का गिरता पारा सर्दी को बढ़ा रहा है।

रालोद, एनएसयूआई गठबंधन लड़ेगा छात्र संघ चुनाव

raalod nsui gathbandhan
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
चौधरी चरण सिंह विवि कैंपस के छात्र संघ चुनाव में गठबंधन की राजनीति शुरू हो गई है। बुधवार शाम रालोद (आरएलडी) और एनएसयूआई की संयुक्त बैठक हुई। इसमें दोनों ही संगठनों के बीच संयुक्त रूप से पैनल घोषित करने और चुनाव लड़ने पर सहमति बनी।
 अध्यक्ष पद पर संयुक्त प्रत्याशी के तौर पर राहुल सहारण ऊर्फ बाली को प्रत्याशी घोषित किया गया। राहुल कैंपस में एमएससी एजी का छात्र है। पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष ज्ञानेंद्र शर्मा, राजीव बालियान, कपिल बिसला, अवनीश काजला की मौजूदगी में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। जल्द ही बाकी पदों पर भी अपना पैनल जल्द घोषित करने पर सहमती बनी। एनएसयूआई,  रालोद का गठबंधन कैंप में एबीवीपी,  सपा छात्र सभा का समीकरण बिगाड़ सकता है। बीते साल भी अध्यक्ष पद पर इसी पैनल के प्रत्याशी ने जीत दर्ज की थी। बुधवार को हुई दोनों दलों की संयुक्त बैठक में विवि से जुड़े कुछ पुराने छात्र नेता भी सक्रिय होते दिखाई दिए। सुधीर मलिक, सुबोध पंवार, कपिल खटकी, अमरीश बालियान, विशाल राणा, गौरव, पवन नैन, सचिन चौधरी, शक्ति नेहरा, रोहित राणा आदि मौजूद रहे।

एबीवीपी ने घोषित किया पैनल
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने भी बुधवार देर शाम अपना पैनल घोषित कर दिया। हालांकि इस दौरान अध्यक्ष पद पर कोई उम्मीदवार नहीं उतरा गया है। उपाध्यक्ष पद पर आंचल, महामंत्री पद पर शशी मौली दूबे, सह सचिव पर मोनू निषाद और कोषाध्यक्ष पर अरविंद कुमार चौरसिया को उतारा गया है। एबीवीपी के महानगर मंत्री चिराग गुप्ता ने यह जानकारी दी।

सुहागिनों ने मांगी पति की लंबी आयु

suhagino ne maangi
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
सुहागिनों ने बुधवार को करवाचौथ का निर्जल व्रत रखकर पति की लंबी आयु की कामना की। सभी जगह करवा माता की पूजा अर्चना कर कथा सुनी। परिवार में सुख शांति के लिए भगवान गणेश और शिव-पार्वती की पूजा की गई। महिलाओं ने सास को बायना देकर व्रत पूरा किया। रात को छलनी में चांद का दीदार कर और अर्घ्य देकर पति के हाथों से जल ग्रहण कर व्रत खोला। पतियों ने भी पत्नियों को उपहार दिए। वहीं व्रत खोलने के बाद महिलाओं ने परिवार के साथ रेस्टारेंट में जाकर भोजन किया।
सोशल मीडिया पर रही धूम
सोशल मीडिया और व्हाट्सएप पर सारा दिन करवाचौथ के संदेशों की धूम रही। महिलाओं ने एक दूसरे को संदेश भेजकर करवाचौथ की बधाई दी। वहीं  करवाचौथ के जोक्स और फनी मैसेज की भी कतार लगी रही। वहीं 8.30 बजते ही महिलाएं, बच्चे बार-बार छतों पर जाकर चांद दिखने का इंतजार करते रहे। चांद निकलते ही बच्चों ने पटाखे चलाए।

ब्यूटी पार्लर रहे फुल
करवाचौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं के कारण बुधवार को शहर के सभी ब्यूटी पार्लर फुल रहे। महिलाएं पार्लर में तैयार होने पहुंची। कई महिलाओं ने फुल मेकअप कराया। शाम 6 बजे तक ब्यूटी पार्लर में भीड़ रही।

दफ्तरों, स्कूलों में रही आधी संख्या
शहर के स्कूल, कॉलेज, ऑफिसों और सरकारी कार्यालयों में अधिकांश महिलाएं छुट्टी पर रहीं। बैंकों से लेकर अन्य दफ्तरों में भी सुहागिन महिलाओं ने पहले से अवकाश ले लिया था। आधा स्टाफ ही कार्यालय पहुंचा। वहीं जो महिलाएं आई थी वे आधी छुट्टी में ही घर चली र्गइं।

मोबाइल, सर्राफा, गैजेट और साड़ी बाजार में भीड़
पतियों करवाचौथ पर पत्नियों को को उपहार भी दिए। इसमें ज्यादा भीड़ सर्राफा बाजार, गैजेट की दुकानों, मोबाइल शॉप और साड़ी शोरूम में रही।

सोशल मीडिया पर वायरल रही तस्वीरें
व्हाट्सएप, फेसबुक, टिवट्र और इंस्टाग्राम पर भी करवाचौथ छाया रहा। महिलाओं ने मेंहदी लगे हाथों, पति के साथ फोटो शेयर किए। करवाचौथ पूजा की तैयारी, करवाचौथ पूजन, माता जी की तस्वीर, सासू मां के साथ फोटो, बायने की तस्वीर, सरगी की तस्वीर, खुद तैयार होकर, चांद की तस्वीर, चांद पूजन की तस्वीरें व बधाई ग्रीटिंग भी पोस्ट किए।

पंचायत चुनाव की रंजिश में सपा नेता के पिता की हत्या

panchayat chunaav
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
परतापुर थाना क्षेत्र के सोरखा गांव में पंचायत चुनाव की रंजिश में सपा नेता के पिता की दिनदहाडे़ गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या से पहले सपा नेता की आरोपी से हाथापाई भी हुई, लेकिन वह फरार हो गया। पीड़ित पक्ष का दावा है कि आरोपी ने उल्टा उन्हें फंसाने के लिए अपने पैर में गोली मारकर पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने उसे मोदीनगर जाते हुए रास्ते से हिरासत में लेकर मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया है।
सपा नेता ने गांव के ही युवक के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है। सोरखा गांव निवासी बलविंदर उर्फ भोलू सिवालखास विधानसभा क्षेत्र से पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हैं। उनके परिवार की गांव के ही श्योवीर उर्फ मालू से 2015 के पंचायत चुनाव के समय से चुनावी रंजिश चल रही है। दोनों में आए दिन किसी ना किसी बात को लेकर नोकझोंक होती रहती थी। सपा नेता बलविंदर ने बताया कि बुधवार सुबह करीब 11 बजे वह मोदीनगर से आया था। वह घर के पास ही गाड़ी खड़ी कर रहा था। उसके पिता नरेंद्र (60) घर के बाहर गली में खडे़ थे। आरोप है कि इस दौरान श्योवीर पिस्टल लेकर आया और उसके पिता को गोली मार दी। घेराबंदी के दौरान श्योवीर हाथापाई कर फरार हो गया। नरेंद्र को केएमसी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
सूचना पर सीओ ब्रह्मपुरी और एसओ परतापुर मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। घटना के कुछ देर बाद ही एसओ परतापुर को किसी ने फोन पर सूचना दी कि श्योवीर के पैर में किसी ने गोली मार दी है। जिस पर एसओ परतापुर ने श्योवीर को मोदीनगर जाते समय रास्ते से हिरासत में ले लिया। एसओ ने बताया कि घटनास्थल से एक और आरोपी के घर से 32 बोर के तीन खोखे मिले हैं। श्योवीर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। हत्या की वजह पंचायत चुनाव की रंजिश बताई गई है।

विदेश सेवा से रिटायर अफसर का अपहरण

videsh seva se retire
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
कुवैत स्थित भारतीय दूतावास से रिटायर एक अफसर का तीन बदमाशों ने लाइसेंसी रिवाल्वर और कार सहित अपहरण कर लिया। यह सनसनीखेज वारदात विगत 13 अक्तूबर की रात थाना गढ़ मुक्तेश्वर अंतर्गत गांव मुकीमपुर के पास हुई। लेकिन गढ़ पुलिस ने पांच दिनों तक रिपोर्ट तक नहीं लिखी। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर मंगलवार देर रात थाना किठौर पर तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।
पुलिस के अनुसार कोटला मुबारकपुर नई दिल्ली निवासी ध्रुव वर्मा ने दी तहरीर में बताया कि उनके पिता धर्म सिंह वर्मा (70) ने कुवैत स्थित भारतीय दूतावास में प्रोटोकॉल अफसर रहते हुए वीआरएस लिया था। जिसके बाद गजरौला के गुलालपुर में फार्म हाउस बनाया था। विगत 13 अक्तूबर की शाम किसी परिचित की कॉल आने पर वे अपनी आर्टिगा कार डीएल-2 एफईसी-0052 से गढ़ मुक्तेश्वर के लिए किठौर के मिश्रीपुर गांव निवासी अपने दोस्त कृष्ण गिरि के साथ निकले थे। गढ़ मुक्तेश्वर बस स्टैंड पर उन्हें तीन परिचित युवक मिले।
ध्रुव के अनुसार कृष्ण गिरी को उनके घर छोड़कर उनके पिता ने फार्म हाउस के नौकर सुनील और उन तीनों परिचित युवकों को अपनी कार में बैठा लिया था। रात करीब नौ बजे ग्राम मुकीमपुर गन्ना सेंटर के सामने उन युवकों ने जबरन कार रुकवा ली और उनके पिता से मारपीट कर उनकी लाइसेंसी रिवाल्वर छीन ली। बाद में बंधक बनाकर कार की पिछली सीट पर डाल दिया। इसके बाद नौकर सुनील को डरा धमकाकर वहां से भगा दिया और गढ़ मुक्तेश्वर की तरफ तेजी से कार लेकर फरार हो गए। आरोप है कि गढ़ मुक्तेश्वर पुलिस ने जानबूझकर रिपोर्ट नहीं लिखी। पांच दिनों से वह टालमटोल करती रही। बाद में उच्चाधिकारियों के निर्देश पर थाना किठौर पर तहरीर दी गई। इंस्पेक्टर किठौर मुनेंद्र पाल सिंह ने बुधवार को बताया कि धर्म सिंह वर्मा कुवैत एंबेसी से रिटायर अफसर थे। तहरीर के आधार पर धारा 364 (हत्या करने के लिए अपहरण) और धारा 394 (लूट के दौरान चोट पहुंचाना) में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर जल्द ही सुराग लगा लिया जाएगा।

अनहोनी का अंदेशा जताया
ध्रुव ने तहरीर में बताया कि उनके पिता सोने की चार अंगुठियों के अलावा गले में सोने की चेन पहनते थे। उनके पास तीन मोबाइल फोन के अलावा एक क्रेडिट कार्ड (सिटी बैंक) और इलाहाबाद बैंक और सिंडिकेट बैंक के दो एटीएम कार्ड भी थे। वे अपने साथ ब्रीफकेस में सारे महत्वपूर्ण कागजात रखते थे। ध्रुव ने अंदेशा जताया कि तीनों अज्ञात युवकों ने उनके पिता के साथ कोई अनहोनी घटना न कर दी हो।