Category Archives: Special In Meerut

Top 10 of CBSE XII – 2017

It was to the surprise that Shanti Niketan Vidyapeeth, Meerut , got into top 5 schools of Meerut, top 10 marks of students in Meerut in all streams and in top 3 of Science stream and in top 3 of commerce stream.

The toppers are from these 5 schools

Dewan Public School
KL International School
Shanti Niketan Vidyapeeth, Meerut
MPGS
Police Modern School

The name of to 10 students of Meerut district are :

  1. Ramya Kaushik -Humanities,  Dewan Public School
  2. Rishabh Shrivastava -Science ,  Dewan Public School
  3. Riya singh -Humanities, MPGS
  4. Divyanshi Agarwal – Science Dewan Public School
  5. Rishabh kumar -Humanities,, Police Modern School
  6. Prstham Shukla –  Science, Shanti Niketan Vidyapeeth
  7. Sonali Tandon -Humanities,KL
  8. Kivim -Humanities, Dewan Public School
  9. Arnav -Humanities, Dewan Public School
  10. Sanjana -Humanities, KL
  11. Urvashi -Humanities, MPGS

कलक्ट्रेट में पसरी रही अव्यवस्था

मेरठ : कलक्ट्रेट में बुधवार को अव्यवस्था पसरी रही। डीएम से मिलने के लिए जहां भारी भीड़ उमड़ी वहीं, पहले मिलने के चक्कर में लोगों की गेट पर तैनात रहे सुरक्षाकर्मियों से नोकझोंक व आपस में धक्कामुक्की हुई। भारी भीड़ व अव्यवस्था के चलते अन्तरराष्ट्रीय पहलवान अलका को भी डीएम से मिलने के लिए इंतजार करना पड़ा।
बुधवार को डीएम बी. चंद्रकला से मिलने के लिए अन्य दिनों की अपेक्षा भारी भीड़ उमड़ी थी। दोपहर में हालत यह थी कि प्रवेश व निकासी दोनों द्वार के बाहर तक पैर तक रखने जगह नहीं थी। इसी बीच अन्तरराष्ट्रीय पहलवान अलका स्पो‌र्ट्स एकेडमी के सिलसिले में डीएम से मिलने के लिए पहुंचीं तो सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें भी गेट के बाहर रोक दिया। इस कारण उन्हें भी बाहर इंतजार करना पड़ा। फोन मिलाने के बाद ही वह अंदर जा सकीं। इसके साथ ही नईम के परिजन भी डीएम से मिलने के लिए पहुंचे थे। सुरक्षा कर्मियों ने नईम की पत्‍‌नी को तो अंदर जाने दिया, लेकिन बाकी परिजनों को बाहर ही गेट पर रोक दिया था। इस पर पुलिसकर्मियों से उनकी नोकझोंक भी हुई। उन्होंने पूरा मामला बताने के लिए भी वहां तैनात एक सदस्य को अंदर भेजने की मांग की। अंदर न भेजने पर पुलिसकर्मियों से नोकझोंक व धक्कामुक्की हुई। काफी जद्दोजहद के बाद एक सदस्य अंदर जा सका। इसके साथ ही अन्य लोगों में भी आफिस के अंदर जाने के लिए मारामारी मची रही। साथ ही पुलिस कर्मियों से नोकझोंक व आपस में धक्कामुक्की हुई। वहीं, भीड़ के पास ही डीएम आफिस के गेट पर एक व्यक्ति सिगरेट पीता रहा।

‘पीएनबी से बोल रहा हूं, मुझे एटीएम कार्ड नंबर बताइए’ –

मेरठ : मैं पंजाब नेशनल बैंक से मैनेजर बोल रहा हूं। आपके बैंक खाते में कुछ तकनीकी खराबी आ गई है। हमें उसे सही करना है। जल्दी अपना खाता नम्बर, एटीएम कार्ड का 16 डिजिट का नम्बर व सीवीसी एवं ओटीपी नम्बर बताओ। वसीम के पूरा डिटेल नोट कराने के बाद तुरंत फोन काट दिया। इसके कुछ देर बाद ही उनके बैंक खाते से 19 हजार निकाले जाने का मैसेज आ गया।
मकान नम्बर-338 पूर्वा अहमद नगर जली कोठी निवासी मोहम्मद वसीम पुत्र हाजी नजीर अहमद के साथ यह ठगी 22 दिसंबर को हुई। बकौल वसीम 22 दिसंबर को उनके मोबाइल नम्बर-9756666881 पर दोपहर करीब 1:49 बजे 8678826060 नंबर से कॉल आई थी। कॉलर ने स्वयं को पीएनबी, जिमखाना मैदान शाखा का मैनेजर बताया। साथ ही खाते में तकनीकी खराबी आने की बात कहकर सही कराने तथा खाता नम्बर समेत एटीएम कार्ड नम्बर आदि की डिटेल मांगी। इसके कुछ देर बाद ही उसके मोबाइल पर दो मैसेज आए, जिनमें 19,983 रुपये निकाला जाना दर्शाया गया। इसके बाद वसीम के पैरों तले की जमीन निकल गई। उन्होंने तुरंत इसकी जानकारी बैंक प्रबंधक को दी। अपना बैंक एकाउंट ब्लाक कराया। इस मामले में बैंक प्रबंधक ने कार्रवाई का आश्वासन दिया। एसएसपी को भी सूचना दी। मामले में अभी कोई कार्रवाई न होने पर वसीम ने अधिवक्ता भाई मो. सलीम के साथ मंगलवार को डीएम से शिकायत की। बैंड कारोबारी व पीड़ित ने डीएम से ठगी के मामले की रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की मांग की। वहीं, जिस नम्बर से वसीम को फोन किया गया वह मंगलवार को भी स्विच ऑफ रहा। सतर्कता बरतें, सावधान रहें
– कॉल आने पर किसी को भी पिन नंबर या एडीएम कार्ड नंबर की जानकारी न दें।
– बैंक शाखा के संपर्क में रहें। बैंक का कोई आपसे पासवर्ड या पिन नंबर नहीं पूछता।
– समय-समय पर खाते की जांच करते रहें।
– एटीएम का पिन नंबर कार्ड पर न लिखें और किसी को भी न बताएं।
– कार्ड प्रयोग करते समय सतर्क रहिए।
– कुछ समय बाद पिन नंबर बदलते रहें।
– ठगी हो जाने पर तुरंत एकांउट होल्ड कराएं।
इनका कहना है..
बैंक की ओर से कभी भी फोन पर अपने ग्राहक से कोई जानकारी नहीं मांगी जाती। इसलिए ऐसी कॉल आने पर किसी भी प्रकार की जानकारी न दें और बैंक से संपर्क करें।

फेस बुक पर प्यार, छोड़ गई भरा पूरा परिवार

निशि बहुत कठोर स्वभाव वाली महिला है। फेसबुक पर निशि तुरंत कमेंट करती थी। सलमान ने एफबी पर ऊंचे ख्वाब दिखाकर उससे दोस्ती कर ली। करीब तीन माह तक दोस्ती चली। फिर सलमान ने निशि पर न जाने कौन सा जादू किया, जो उसने अपना भरा पूरा परिवार छोड़ दिया। घर से तीन लाख रुपये के जेवरात तक ले गई।

भजनपुरा दिल्ली निवासी कपड़ा व्यापारी हरीश वर्मा ने मंगलवार को सीओ कोतवाली रणविजय सिंह के सामने अपनी पत्नी निशि और उसके प्रेमी सलमान के कई राज उजागर किए। इस दौरान वे कई बार भावुक हो गए। उन्होंने सीओ को बताया कि बीती पांच नवंबर को जब निशि लापता हुई थी तो मैंने उसका फेसबुक एकाउंट चेक किया था। जिसमें सामने आया कि निशि के दो दोस्त मेरठ निवासी सलमान और शादाब बने थे। इनके बीच कई मेसेज, कमेंट्स और स्टेटस देखकर मैं हैरान रह गया था।

मेरी पत्नी तो ऐसी नहीं
बकौल हरीश, मैंने एक बार सलमान को देखा जरूर था। उसने खुद को भजनपुरा में काम करना बताया था। जब मैंने निशि के एफबी एकाउंट में सलमान और शादाब के फोटो देखे तो पूरा मामला समझ में आ गया था। लेकिन मेरी पत्नी ऐसी नहीं है। मुझे अंदेशा है कि जादू टोना करके सलमान ने उसको अपने जाल में फंसाया होगा। मेरी 15 साल की एक बेटी और 13 साल का एक बेटा है। घर में कोई कमी भी तो नहीं। न जाने निशि क्यों मुझे छोड़कर चली गई।

अनहोनी का भी अंदेशा
हरीश ने सीओ को बताया कि पहले फेसबुक पर निशि से दोस्ती, फिर उसका अपहरण और अब निशि के न मिलने पर कोई अनहोनी का अंदेशा भी हो सकता है। हो सकता है कि इसके पीछे सलमान और उसके दोस्त शादाब का हाथ हो। अगर मेरा अंदेशा सही निकलता है तो सलमान के एक नहीं, बहुत सारे राज खुलेंगे। फेसबुक के जरिये सलमान और शादाब का पता भी मैंने खुद लगाकर पुलिस को बताया था।

दिल्ली पुलिस ने नहीं की मदद
हरीश ने बताया कि अपनी निशि को बरामद करने के लिए मैं कई बार दिल्ली पुलिस से गुहार लगा चुका हूं। मैं चार बार निशि की तलाश में मेरठ आ चुका हूं। लेकिन निशि का कोई सुराग नहीं लगा। अब मुझे मेरठ पुलिस से बहुत उम्मीद है कि निशि का पता चल जाएगा।

एक बार कहे तो…
हरीश ने भावुक होते हुए यहां तक कहा कि अगर निशि एक बार कहे कि वह सलमान के साथ खुश है तो वह कभी पीछे मुड़कर नहीं देखेगा। लेकिन निशि एक बार भी उसके सामने नहीं आयी।

यीशु मसीह मिले, जिंदगी मिल गई.

मेरठ: क्रिसमस पर यूनाईटेड क्रिश्चियन प्रोशेसन कमेटी की ओर से सोमवार को भव्य जुलूस निकाला गया। क्रिसमस जुलूस रूड़की रोड स्थित सेंट जोजफ चर्च से प्रारंभ हुआ, जो बॉम्बे बाजार, आबूलेन, बेगमपुल, बच्चा पार्क और कचहरी रोड से होता हुआ सिविल लाइंस स्थित सिटी मैथोडिस्ट चर्च पर संपन्न हुआ।
जुलूस में सेंट थॉमस चर्च ने जहां झांकी में प्रभु यीशु के जन्म को दर्शाया। वहीं सेंट्रल चर्च द्वारा चरनी का दृश्य बनाकर झांकी निकाली गई। सेंट जोजफ चर्च द्वारा जंगल में फरिश्तों को बच्चों ने दर्शाया। तो सेंट पॉल चर्च ने राजा हेरोदेश का दरबार बनाकर प्रस्तुत किया। इसके अलावा जुलूस में प्रभु यीशु के गीत भी गाए गए।
सबसे सुंदर झांकी के लिए सेंट थॉमस चर्च का प्रथम पुरस्कार देकर सम्मानित किया। वहीं सेंट्रल मेथोडिस्ट चर्च की झांकी दूसरे और सेंट जोजफ चर्च ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। जुलूस में रेव्ह चमन कम्फर्ट, प्रवीन जोशी, फादर रौशन, फादर पारितोष, महेश चंद, डीके गोयल, ब्रदर ललित स्टीफन और सैमसन भी उपस्थित रहे।

न्यू ईयर के वेलकम को होटल और रेस्तरां तैयार

मेरठ: सर्द हवाओं के बीच पूरे शहर में जिंगल बेल की गूंज के बाद अब न्यू ईयर की आहट आने लगी है। मॉल, होटल और रेस्तरां सभी जगह विशेष तैयारी की जा रही है। 2016 की विदाई और 2017 के स्वागत में होटल और रेस्तरां कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते। इसलिए सेलिब्रेशन का अंदाज कुछ खास होने वाला है। कहीं ब्लैक एंड व्हाइट की थीम पर होटल की सजावट की जा रही है तो कहीं अरेबियन थीम पर। इस बार पार्टी में बैली डांस का तड़का भी होगा। अरेबियन से लेकर टर्की फूड तक की व्यवस्था की जा रही है।
लाइटिंग भी ब्लैक एंड व्हाइट
दिल्ली रोड स्थित होटल क्रोम के डायरेक्टर गौरव नारंग कहते हैं कि न्यू ईयर पार्टी की थीम इस बार ब्लैक एंड व्हाइट रखी गई है। पार्टी में सिर्फ सजावट ही ब्लैक एंड व्हाइट थीम पर नहीं की जा रही, बल्कि लाइटिंग भी ब्लैक एंड व्हाइट ही रहेगी।
अरेबियन थीम और बैली डांस
दिल्ली रोड स्थित होटल हाईफन के महाप्रबंधक प्रदीप पाल ने बताया कि 31 दिसंबर की रात रसियन मैजिक की रात होगी। इस रात का खास आकर्षण रसियन डांसर का बैली डांस होगा। इसके अलावा होटल को अरेबियन थीम के अनुसार सजाया जाएगा। साथ ही अरेबियन फूड भी तैयार किए जा रहे हैं।
डीजे पर मचेगी धमा-चौकड़ी
गढ़ रोड स्थित सम्राट हैवेंस होटल के डायरेक्टर सुबोध गुप्ता का कहना है कि न्यू ईयर पार्टी डीजे विद डांस फ्लोर संग होगी। युवाओं की पसंद को ध्यान में रखते हुए रंग-बिरंगी लाइटों से सजावट की जा रही है।
रेड एंड ब्लैक थीम होगी खास
बाउंड्री रोड स्थित होटल क्रिस्टल के डायरेक्टर राजेंद्र सिंघल ने बताया कि न्यू ईयर पाटी की थीम रेड एंड ब्लैक रखी गई है। इसे रेड एंड ब्लैक बैलून से सजाया जा रहा है। इसके साथ डीजे और स्पेशल डिनर भी है।
डीजे पर होगा धमाल
गढ़ रोड स्थित एडिक्शन क्लब के डायरेक्टर आकाश त्यागी ने बताया कि उनके रेस्टोरेंट में यह पहली न्यू ईयर पार्टी है। इसे खास बनाने के लिए रेड एंड ब्लैक थीम से रेस्टोरेंट की सजावट की जा रही है। युवाओं की पसंद को ध्यान में रखते हुए खास डीजे का इंतजाम किया गया है।
न्यू ईयर की नाइट होगा हैंगओवर
परतापुर बाईपास स्थित ब्रावरा गोल्ड रिसोर्ट के डायरेक्टर शेखर भल्ला ने बताया कि नए साल की पार्टी को ‘हैंगओवर 2017’ का नाम दिया गया है। इसमें डीजे अखिल तलरेजा नॉन स्टॉप हॉट बॉलीवुड रिमिक्स से लोगों का मनोरंजन करने वाले हैं।
आला कार्ड में टर्की फूड
शॉपरिक्स मॉल स्थित फूड कोड में गरम मसाला की डायरेक्टर पारुल मदान ने बताया कि रेस्टोरेंट को रेड एंड व्हाइट थीम पर ही सजाया जा रहा है। यह गरम मसाला की भी थीम है। इस साल का आकर्षण ‘आला कार्ड’ है, जिसमें सबसे खास टर्की फूड है। इसके अलावा फिश और सी-फूड का स्वाद भी इस बार खास रहेगा।
यह है कपल की एंट्री फीस
हाईफन – 3000 रुपये
क्रिस्टल – 5000 रुपये
ब्रावरा – 4999 रुपये
अन्य में रहेगा बफर सिस्टम
न्यू ईयर नाइट के लिए जहां कुछ होटलों में कपल टिकट सिस्टम लागू होगा। वहीं, शहर के अन्य होटलों में बफर सिस्टम की व्यवस्था रहेगी, यानि आप अपने ऑर्डर के मुताबिक ही अपने बिल का भुगतान कर सकते हैं।

अफसरों की साठगांठ से सरकार को लगाया जा रहा टैक्स का चूना, जानिए कैसे ?

अफसर की मेहरबानी हो, तो सरकार को टैक्स का चूना आसानी से लगाया जा सकता है। ‘मेरा शहर मेरी पहल’ संस्था द्वारा नौचंदी मैदान में आयोजित नव वर्ष महोत्सव मेले में ऐसा ही हो रहा है। इस मेले पर मनोरंजन कर विभाग की नजर नहीं है। जिसका बड़ा उदाहरण ये है कि मेले में लगे झूला संचालक जो टिकट दे रहे हैं, वह उत्तराखंड में लगी किसी प्रदर्शनी के हैं।

किसी भी मेला आयोजन में झूला या मनोरंजन आदि के साधनों पर जब शुल्क लगाया जाता है, तो उस पर मनोरंजन कर लगता है। यह मनोरंजन कर 25 प्रतिशत होता है। नौचंदी मैदान में 15 दिसंबर से 8 जनवरी तक के लिए मेरा शहर मेरी पहल संस्था द्वारा नववर्ष महोत्सव मेला आयोजित कराया जा रहा है। छह दिन पूर्व वैरायटी शो (फूहड़ नृत्य) के कार्यक्रम से चर्चा में आये इस मेले में अब मनोरंजन कर की चोरी का मामला सामने आया है। जिसमें विभाग का संरक्षण साफ नजर आ रहा है।

मेला परिसर में छोटे-बड़े करीब डेढ़ दर्जन झूले लगे हैं। इनमें बड़े झूले वाले 40 रुपये और छोटे झूले वाले 20 रुपये शुल्क वसूल रहे हैं। मेला आयोजन की अनुमति देते हुए अपर जिलाधिकारी नगर ने कहा था कि इसके लिए मनोरंजन कर विभाग से भी एनओसी ली जाये।

मनोरंजन कर विभाग ने बंद की आंखें
मेला आयोजन कराने वाली संस्था से अधिकारी और शहर के प्रभावशाली लोग जुड़े हैं। ऐसे में मनोरंजन कर विभाग भी आंख बंद करके बैठ गया। झूलों के टिकट पर नव वर्ष महोत्सव मेला, नौचंदी मैदान मेरठ के स्थान पर ‘उत्तराखंड मनोरंजन एवं विकास प्रदर्शनी, एमबी इंटर कालेज मैदान हल्द्वानी नैनीताल लिखा है। जिसे शिवानी एम्यूजमेंट द्वारा संचालित किया गया। इस पर पांच प्रतिशत की दर से टैक्स जोड़ते हुए कुल 40 रुपये कीमत दर्शायी गयी है। टिकट पर कहीं झूला भी दर्ज नहीं है।

इंस्पेक्टर से पूछकर बताऊंगा
मनोरंजन कर विभाग के सहायक आयुक्त एमके सिंह से जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि झूले पर टैक्स वसूला जायेगा। जब उनसे पूछा गया कि हल्द्वानी की किसी प्रदर्शनी का टिकट झूला संचालक दे रहे हैं तो उस पर कैसे टैक्स निर्धारित करोगे, तो उन्होंने कहा कि इस संबंध में इंस्पेक्टर से पूछकर जवाब दे पाऊंगा।

वैरायटी शो की जानकारी ही नहीं
सहायक आयुक्त मनोरंजन कर को मेला परिसर में एक सप्ताह तक चले दो वैरायटी शो की जानकारी ही नहीं है। जबकि इस पर भी 40 रुपये का टिकट लगाया गया था। इस दौरान सैकड़ों लोगों ने रोजाना वैरायटी शो देखा था। यदि दोनों वैरायटी शो में प्रतिदिन औसतन एक हजार लोग भी आये, तो सप्ताह में सात हजार लोगों ने शो देखा होगा। शुल्क वसूली 2.80 लाख रुपये बैठती है और इस पर 70 हजार का टैक्स बनता है। इससे सहायक मनोरंजन कर आयुक्त की अनभिज्ञता भी सवालों के घेरे में आ गई है।

शपथ भारद्वाज ने 14 साल की उम्र में रच दिया इतिहास, अब सीनियर टीम में खेलेंगे

डबल ट्रैप शूटर शपथ भारद्वाज ने 14 साल की उम्र में इतिहास रच दिया। उन्होंने नेशनल की सीनियर टीम के लिए क्वालीफाई किया है। ऐसा करने वाले वह देश के सबसे कम उम्र के शूटर हैं। हाल में हुई एशियाई चैंपियनशिप के पदक विजेता अंकुर मित्तल और संग्राम सिंह दहिया टीम के अन्य सदस्य होंगे। शपथ दिल्ली, मैक्सिको और साइप्रस में होने वाले वर्ल्ड कप मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे।

नवंबर में जयपुर में हुई 60वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन कर शपथ ने 136/150 का स्कोर बनाकर जूनियर वर्ग में द्वितीय और सीनियर वर्ग में तृतीय रैंक हासिल की थी। पंजाब के पटियाला शहर में 18 से 24 दिसंबर तक वर्ल्ड कप के लिये बनने वाली सीनियर नेशनल टीम के लिये सलेक्शन ट्रायल हुआ। शपथ भारद्वाज ने देश के अंतरराष्ट्रीय शूटरों के साथ खेलते हुए पहले ट्रायल में 122/150 का स्कोर किया। दूसरे ट्रायल में जबरदस्त वापसी करते हुए 136/150 का स्कोर कर दूसरा स्थान पक्का किया। वह अपनी सफलता का श्रेय कोच और शूटर योगिंदर पाल सिंह को देते हैं। भारतीय जूनियर टीम (डबल ट्रैप) के मुख्य कोच विक्रम चोपड़ा ने भी उन्हें बधाई दी है। सेंट मेरीज एकेडमी के प्रधानाचार्य ब्रदर बाबू वर्गीज और शिक्षकों ने भी बधाई दी है।

शपथ के रिकॉर्ड
फिनलैंड में मई में हुए 8वें इंटरनेशनल शॉटगन कप में खेलते हुए टीम की ओर से सर्वाधिक 128/150 का स्कोर किया। टीम ने रजत पदक जीता।
जर्मनी में अप्रैल में हुई जूनियर वर्ल्ड कप में टीम का सबसे कम उम्र का सदस्य।
केरल में अप्रैल में हुई 35वें नेशनल गेम्स में 13 वर्ष की आयु में अपने प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रिकॉर्ड बनाया।

हाईस्पीड ट्रेन में मिलेगी हवाई जहाज जैसी सुविधा, इसके अलावा भी बहुत कुछ खास, जानें क्या ?

दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ के मोदीपुरम (92.05 किमी) तक हाईस्पीड ट्रेन में यात्रा का खाका तैयार है। दिल्ली-गाजियाबाद के रास्ते मेरठ तक के सफर में हवाई जहाज जैसी बैठने की सुविधा (2 गुणा 2 की ट्रांसवर्स सीट) ही नहीं होगी बल्कि कंपार्टमेंट में बिजनेस क्लास के लिए अलग व्यवस्था होगी। ट्रेन की डिजाइन एंटी टेलिस्कोपिक होगी जिसमें कोच और मोटर कोच ऑस्टेनिटिक स्टेनलेस स्टील या एल्यूमिनियम से बना होगा।

नेशनल कैपिटल रिजन ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (एनसीआरटीसी) बोर्ड ने दिल्ली-मेरठ कॉरिडोर के डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट को मंजूरी देकर दिल्ली और यूपी को जल्द से जल्द मंजूरी के लिए भेजा है। दोनों राज्यों की मंजूरी के बाद ही आगे का काम शुरू होगा। जहां इस कॉरिडोर पर हाईस्पीड ट्रेन चलाने की योजना है। हाईस्पीड की ट्रेन 200-250 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलती है लेकिन इस कॉरिडोर पर प्रत्येक 5 से 10 किमी की दूरी पर स्टेशन है। इसलिए ट्रैक और ट्रेन कोच को अधिकतम स्पीड 180 किमी प्रति घंटा के हिसाब से डिजाइन करने का फैसला विशेषज्ञों ने लिया है।

प्रोजेक्ट के अनुसार दिल्ली से मोदीपुरम तक के कॉरिडोर के रास्ते में 42 जगह क्रॉसिंग हैं जिसमें 30 जगह अच्छा खासा घुमाव है। चूंकि इस रास्ते पर ईएमयू भी चलती है तो उसी 22 मीटर लंबे, 3.2 मीटर चौड़े और 3.9 मीटर ऊंची ट्रेन के साइज को ठीक माना गया है। कोच में दोनों तरफ तीन-तीन दरवाजे होंगे। जहां 6 कोच में 182 यात्रियों के बैठने की क्षमता होगी, वहीं प्रत्येक वर्ग मीटर में 3 यात्रियों के लोड और बहुत भीड़ की दशा में 8 यात्रियों को प्रतिवर्ग मीटर के हिसाब से खड़े होने की व्यवस्था नई ट्रेन में होगी। साथ ही एक व्हील चेयर की जगह भी होगी।

हाईस्पीड कॉरिडोर पर दौड़ने वाली ट्रेन में ये है खास
. परिचालन की अधिकतम स्पीड 160 किमी प्रति घंटा और औसत स्पीड 100 किमी रहेगी।
. आग लगने की दशा में तुरंत सूचना देने की तकनीक से लैस होगी ट्रेन।
. ट्रेन के कोच में ऐसा सिस्टम लगा होगा कि अचानक बिजली से संपर्क खत्म होने पर भी 90 मिनट तक वेंटिलेशन की दिक्कत नहीं होगी।
. ओवरहेड वॉयर से बिजली मिलनी बंद हो जाए तो भी तीन घंटे तक लाइट और उद्घोषणा काम करेगा।
. ट्रेन एक सेकेंड में 1.3 मीटर की रफ्तार पकड़ लेगी।
. ट्रेन और ट्रैक स्टैंडर्ड गेज (1435 एमएम) की होगी।

आदायगी पर आई ‘आफत’

MEERUT: नोटबंदी के बाद कालाधन से बैंक का लोन चुकाने वालों पर इनकम टैक्स ने शिकंजा कस दिया है। विभाग ने ऐसे लोनधारकों से पूछा है कि ‘एकाएक उनके पास इतना पैसा कहां से आया?’ बड़े पैमाने पर डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक के खाताधारकों ने नोटबंदी के बाद अपना लोन चुकता किया है। इनकम टैक्स विभाग ने एलआईसी में भी दस्तावेज खंगाले हैं।
जमा हुआ कालाधन
आयकर विभाग के मुताबिक मेरठ के हजारों खातों में नोटबंदी के बाद लोन की अदायगी के नाम पर कालाधन जमा किया गया है। सर्वाधिक खाते डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक से संबंधित हैं। 25 लाख या उससे अधिक के लोन को नोटबंदी के बाद कैश चुकाने वालों पर विभाग ने शिकंजा कस दिया है।
भेजे गए नोटिस
नोटिस भेजकर विभाग ने ऐसे लोनधारकों से पूछा है कि ‘आखिर एकाएक वो इतनी रकम कहां से लाए हैं.’ विभाग का मानना है कि ये रकम कालाधन है जिसे ठिकाने लगाने के इरादे से लोन की अदायगी कर दी गई। रकम के स्रोत को स्पष्ट न कर पाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।
खंगाली गई फाइलें
सूचना के आधार पर पिछले दिनों आयकर विभाग ने एलआईसी की फाइलें भी खंगाली हैं। सूचना थी कि नोटबंदी के बाद कालेधन से लोगों ने जीवन बीमा निगम को पॉलिसी की किस्तें अदा की हैं। बड़े पैमाने पर कालेधन की खपत की सूचना था हालांकि जांच में आयकर विभाग को यहां से ऐसा कुछ नहीं मिला है।
हर लेनदेन पर है नजर
विभागीय अधिकारियों का कहना है कि नोटबंदी के बाद बड़े पैमाने पर जिन मदों में नकदी खर्च की गई है वे सब रडार पर हैं। आयकर विभाग ने बैंकों को निर्देश दिए हैं कि बड़े लेनदेन और बकाएदारों की सूची मुहैया करा दें।