Category Archives: Hindi

डीयू छात्रा की फोटो खींचने पर बवाल, एक दबोचा, चौकी पर धरना देकर बैठे भाजपाई

मेरठ : कम्प्यूटर क्लास से वापस लौट रही डीयू की छात्रा के साथ दुस्साहसी मनचलों ने छेडछाड करते हुए उठाने का प्रयास किया। स्थानीय लोगों ने युवकों का विरोध किया तो वह भिड गए। मनचलों में से एक को मौके पर दबोच लिया गया, जबकि दो साथी फरार हो गए। भाजपाईयों ने घटना के विरोध में माधवपुरम चौकी पर हंगामा करते हुए आरोपी संप्रदाय विशेष के युवक के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की। भाजपाई माधवपुरम चौकी पर धरना देकर बैठ गए। पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ छेडछाड का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामला माधवपुरम चौकी से जुडा है।
माधवपुरम निवासी युवती दिल्ली यूनिवर्सिटी में बीए फर्स्ट ईयर की छात्रा है। उसने बताया कि रविवार को वह अपनी सहेलियों के साथ रविवार को कम्प्यूटर क्लास अटेंड करने गई थी। वहां से लौटते वक्त माधवपुरम बिजलीघर के पास स्कूटर सवार तीन युवक उनके फोटो खींचने लगे। युवतियों ने विरोध किया तो स्कूटर सवार युवक भिड गए। युवती ने युवक के हाथ से मोबाइल छीन लिया और फोटो डिलीट कर दिए। इस दौरान आसपास के लोग एकत्र हो गए। स्कूटर सवार एक आरोपी युवक को दबोच लिया गया, जबकि अन्य दो मौके से फरार हो गए। मौके पर जोरदार हंगामा खडा हो गया। स्थानीय लोगों ने पकडे गए आरोपी युवक को पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी युवक संप्रदाय विशेष से जुडा होने की सूचना लगते ही भाजपा नेता कमलदत्त शर्मा कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे और माधवपुरम चौकी पर धरना देकर बैठ गए। भाजपा नेता ने आरोपी युवक के खिलाफ कडी कार्यवाही की मांग करते हुए अन्य फरार दोनों आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग रखी। पुलिस पूछताछ में पकडे गए आरोपी युवक की पहचान सुहैल बतायी गई है। इंस्पेक्टर ब्रहमपुरी ने बताया कि सुहैल के विरूद्ध छेडछाड का मुकदमा दर्ज किया गया है।

7 Total Views 7 Views Today

डाबका कट के पास मिला शव, शराब पीने से मौत की आशंका

Dabka-bodies-found-near-Cut

मेरठ : कंकरखेडा में डाबका कट के पास आज एक शव पडा मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आसपास के लोगों से जानकारी करते हुए शव की शिनाख्त की। शव की शिनाख्त आबिद पुत्र यूनुस के रूप में हुई है। परिजनों ने मौत को स्वाभाविक होना बताते हुए किसी भी कार्यवाही से इंकार कर दिया। मृतक के भाई राशिद को पुलिस की ओर से शव सौंप दिया गया।

9 Total Views 9 Views Today

मामूली बात पर भिडे, कई के सिर फूटे

Bhide-at-small-talk,-many-head-Tunes

मेरठ : मेरठ के लिसाडी गेट थाना क्षेत्र में मामूली बात को लेकर दो पक्षों के बीच विवाद हो गया। कहासुनी के बाद दोनों पक्षों के बीच जमकर लाठी-डंडे चले और पथराव हुआ। लिसाडी गांव निवासी अमित ने बताया कि वह स्कूटी से जा रहा था। उसी दौरान अमित पुत्र रामे ने उसे रोक लिया और पिटाई शुरू कर दी। इसी बीच आरोपी अमित के भाई अंकित ने भी पीडित अमित को पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान अमित की जेब से 3 हजार रूपये लूट लिए गए। इसके बाद आरोपी पक्ष के दर्जनों युवक लाठी-डंडे लेकर पहुंचे और अमित के घर पर हमला बोल दिया। सूचना के काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। पीडितों को मेडिकल के लिए अस्पताल भेजकर जांच करायी गई है। पीड़ित परिवार में अमित पुत्र कमल लाल, जितेन्द्र पुत्र कमललाल और मन्नू पुत्र कमल लाल व सरोज पत्नी कमल लाल शामिल हैं। पीडित परिवार की ओर से थाने पर तहरीर दी गई है।

19 Total Views 19 Views Today

हस्तिनापुर गंगा में डूबा युवक, तलाश जारी

Hastinapur-dipped-in-the-Ganges-young,-continue-to-seek

मेरठ : हस्तिनापुर में कटान को रोकने के लिए गंगा किनारे लगाई जा रही टोकरों में कार्य कर रहा एक युवक रविवार को कार्य करते समय गंगा नदी में डूब गया। जानकारी के अनुसार, गंगा में प्रतिवर्ष होने वाले कटान को रोकने के लिए सिंचाई विभाग द्वारा गंगा किनारे स्थाई टोकरों का निर्माण किया जाता है। रविवार सुबह राकेश पुत्र खचेडू निवासी सिरसा थाना हसनपुर अपने दर्जनों साथियों के साथ गंगा किनारे ठोकरों के निर्माण का कार्य शुरू किया और गंगा नदी में बहकर आ रहे नरियल को पकडने का प्रयास करने लगा। इसी दौरान वह गंगा के गहरे पानी में जा पहुंचा। डूबने की सूचना पर स्थानीय पुलिस व गोताखोरों ने युवक को तलाशने का अभियान चलाया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली।

ओमकार पुत्र छोटे ने बताया कि अमरोहा जनपद के कई दर्जन युवक गंगा किनारे ठोकरें लगाने का कार्य कर रहे है। राकेश व अन्य साथी युवकों ने रविवार गंगा में ठोकर लगाने का कार्य शुरू किया। लगभग दस बजे राकेश को गंगा में धार में नारियल बहता हुआ नजर आया। जिससे पकडने के लिए वह गंगा में कूद गया और डूबने लगा। अन्य युवकों ने उसे बचाने का प्रयास किया लेकिन सफल नही हो पाये। जिसकी सूचना उन्होने विभागीय अधिकारियों व युवक के परिजन को दी। मौके पर पहुचें विभागीय अधिकारियों व थाना पुलिस ने युवक को स्थानीय गोताखोरों की मदद से खोजने का काफी प्रयास किया लेकिन खबर लिखे जाने तक युवक का कोई पता नही चला।

सुरक्षा होती तो बचा जाती युवक की जान
विभाग ने गंगा किनारे ठोकरें लगाने के कार्य तो युद्व स्तर पर शुरू कर दिया लेकिन मजदूरों की सुरक्षा राम भरोसे रखी। मजदूरों का कहना था कि यदि विभाग या ठेकेदार ने नियमानुसार गहरे पानी में सुरक्षा के नियमों की अनदेखी ना की होती तो वे लोग अपने साथी को गंगा में डुबने से बचा सकते थे।

विभाग की लापवाही ले सकती है अन्य युवकों की जान
गंगा में कार्य कर रहे युवकों के चयन में सिचाई विभाग ने नियमों को तक पर रख दिया। कुछ युवक नाबालिक है तो सैकडों ऐसे युवक है जो तैरान भी नही जानते। ऐसे में उन्हे गहरे पानी में काम करना पडता है। कार्य कर रहे युवकों को कहना है कि विभाग या ठेकेदार ने उनकी सुरक्षा का भी कोई इंतजाम नही किया। इसके बाद भी उन्हे गहरे पानी में कार्य करना पडता है। अन्य लोगों के साथ कभी भी हादसा हो सकता है।

16 Total Views 16 Views Today

करनावल में दलित युवक पर चाकूओं से हमला

Young-man-with-knives-attacked

मेरठ : सरूरपुर के क़स्बा करनावल में सरेशाम रंजिशन दलित युवक पर कुछ युवकों ने चाकुओं से हमला बोल दिया। गंभीर हालत में घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानलेवा हमले के पीछे पुरानी रंजिशन बतायी गई है। जानकारी के मुताबिक, करनावल निवासी 30 वर्षीय सोनू पुत्र सलेख पर गांव में ही काम करता है। बताया जा रहा है कि उसका कुछ दिन पहले गांव के गैर बिरादरी युवकों से विवाद हुआ था। इसी विवाद से प्रेरित होकर आज दूसरे युवकों ने इसे मिलने के लिए बाजार में बुला लिया और हमला बोल दिया। आरोप है कि सोनू के उपर पेंचकस व चाकूओं से युवकों ने ताबडतोड हमला बोल दिया। सोनू के चिल्लाने पर हमलावर फरार हो गए। सोनू को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

10 Total Views 10 Views Today

पैसों की जरूरत पड़ी तो कुख्यात के नाम अपने ही परिचित से मांग ली 15 लाख की रंगदारी

Acquaintance-and-asked-for-15-Lakh-extortion

मेरठ : सरधना में एक व्यापारी से कुख्यात बदमाश के नाम पर 15 लाख रंगदारी मांगने वाले दो बदमाशों को दबोचते हुए पुलिस ने धमकी देने के लिए प्रयोग किया गया मोबाइल, सिम और एक तमंचा बरामद किया है। पकड़े गए बदमाशों ने बताया कि उन्हें पैसों की जरूरत थी और वह व्यापारी की आर्थिक स्थिती को अच्छी तरह से जानते थे, इसलिए उसे निशाना बनाने की योजना बनाई। एसपी देहात श्रवण कुमार ने पुलिस लाइन में पत्रकार वार्ता करते हुए बताया कि बीती 15 फरवरी को सरधना के अशोक की लाट निवासी व्यापारी मुकेशचंद से बदमाशों ने मोबाइल पर काॅल करके 15 लाख की रंगदारी मांगी थी। रकम न देने की सूरत में व्यापारी को परिवार सहित खात्मे की धमकी दी गई थी। इस घटना के बाद दहशत मेें आए व्यापारी ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

जिसके बाद एसएसपी जे. रविन्द्र गौड़ ने सीओ सरधना और सर्विलांस की टीमको खुलासे के लिए लगा दिया। सर्विलांस सैल द्वारा की गई पड़ताल पर व्यापारी को धमकी देने वाले मोबाइल की लोकेशन ट्रेस करते हुए दो बदमाशों को दबोचा गया। आरोपियों के नाम नितिन पुत्र राजकुमार निवासी मौ बूढा बाबू सरधना हाल निवासी टीकाराम काॅलोनी कंकरखेड़ा और सोनू पुत्र किशनलाल निवासी चरथावल बस अड्डा सरधना बताये गए हैं। एसपी देहात के मुताबिक आरोपी सोनू ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह व्यापारी मुकेशचंद को पहले से जानता था और उसे पता था कि मुकेश की आर्थिक स्थिती मजबूत है। उसे पैसों की जरूरत थी इसलिए उसने नितिन के साथ मिलकर मुकेश से रंगदारी वसूलने की योजना बनाई। आरोपियों के पास से मुकेश को धमकी देने के लिए प्रयोग किया गया मोबाइल सेट और सिम नंबर 8881494795 सहित एक 315 बोर का तमंचा और एक कारतूस बरामद हुआ है। आरोपी नितिन पूर्व में भी कई संगीन अपराधांे में जेल जा चुका है। आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

14 Total Views 14 Views Today

दरोगा ने आईपीएस के भाई पीटा

inspector beaten ips brother
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
मेरठ डीआईजी ऑफिस में तैनात दरोगा समेत सात पुलिसकर्मियों ने एक आईपीएस के भाई और उसके दो दोस्तों पर गाड़ी चोरी का आरोप लगाकर उनकी पिटाई कर दी। पुलिसकर्मियों ने गाड़ी में तोड़फोड़ भी की। दरोगा समेत सात पुलिसकर्मियों पर बागपत कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत हो गया है। पुलिसकर्मियों के सस्पेंड करने की संस्तुति भी कर दी गई।
शामली के बहावड़ी गांव निवासी शशि कुमार ने बागपत कोतवाली में डीआईजी ऑफिस में तैनात दरोगा राजीव कुमार, मेरठ में तैनात सिपाही शाहनवाज तथा पांच अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज कराया। आरोप है कि शशि कुमार अपने दोस्त मनोज कुमार के साथ मेरठ से सोनीपत एक शादी के कार्यक्रम में जा रहे थे। मनोज कुमार आईपीएस विजय ढुल के भाई है। ड्राइवर उनकी बोलेरो चला रहा था। बृहस्पतिवार रात करीब पौने आठ बजे राष्ट्र वंदना चौक से 60-70 मीटर पहले एक ट्रक खड़ा हुआ था। इससे उनकी बोलेरो भी रुक गई। इसी दौरान वहां पहुंची एक गाड़ी से उतरे सात युवकों ने खुद को पुलिसकर्मी बताते हुए मारपीट कर दी। मनोज ने अपने भाई का परिचय भी दिया। इसके बावजूद भी आरोपी मारपीट करते रहे। बोलेरो में भी तोड़फोड़ की गई। आईपीएस विजय ढुल ने दरोगा राजीव से फोन पर बात की, तब जाकर उन्हें छोड़ा गया। कोतवाली में आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट (धारा 147,323, 504 व 427 आईपीसी) दर्ज हुई है। कोतवाल अरुण कुमार द्विवेदी का कहना है कि केस की विवेचना के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

क्राइम ब्रांच का दरोगा हूं
पीड़ितों ने बताया कि आरोपी राजीव बार-बार खुद को मेरठ क्राइम ब्रांच में दरोगा बता रहा था। उन पर क्रेटा गाड़ी चोरी करने का आरोप लगाया गया। पुलिस का ऐसा बर्ताव देखकर आईपीएस का भाई और उसके दोस्त भी हैरत में पड़ गए। उन्होंने उच्चाधिकारियों से आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

किसके निर्देश पर गए थे बागपत
राजीव डीआईजी ऑफिस में तैनात है। वह किसके निर्देश पर बागपत में चोरी हुई क्रेटा पकड़ने गए थे, इसका जवाब किसी के पास नहीं है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि दरोगा के साथ डीआईजी ऑफिस में ही तैनात सिपाही शाहनवाज भी थे। दोनों ने बागपत की क्राइम ब्रांच के सिपाहियों से बात की और उनको साथ ले लिया। क्रेटा की जानकारी कहां से आई, इसकी जांच चल रही है।

किशोरी से रेप को लेकर तनाव, हंगामा

tension created after raped girl
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
 भावनपुर क्षेत्र के औरंगाबाद गांव में दलित किशोरी को अगवा कर रेप के मामले में शुक्रवार को हंगामा हो गया। ग्रामीणों ने भाजपा नेताओं के साथ एसएसपी ऑफिस का घेराव किया। दो दिन में आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
किशोरी के परिजनों ने 14 फरवरी को आरोपी नाजिम पुत्र सैय्याद के खिलाफ भावनपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गिरफ्तारी न होने पर शुक्रवार को भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. चरण सिंह लिसाड़ी के नेतृत्व में भाजपा नेताओं और दलित समाज के लोगों ने एसएसपी से शिकायत की। उन्होंने आरोप लगाया कि पहले तो पुलिस ने 24 घंटे बाद रिपोर्ट दर्ज कर मेडिकल कराया, उसके बाद गिरफ्तारी नहीं की गई। पूर्व विधायक रणवीर राणा ने कहा कि पुलिस सत्ता के दबाव में काम कर रही है, जिसके कारण आरोपी फरार है। गांव में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बन चुकी है और पुलिस झूठे आश्वासन दे रही है। एसएसपी जे. रविंदर गौड़ ने बताया कि सीओ सदर देहात और एसओ को कड़े निर्देश दिए हैं। जल्द आरोपी को गिरफ्तारी कर लिया जाएगा। हंगामा करने वालों में पूर्व विधायक विनोद हरित, कै लाश चंद, जगपाल सिंह, सांसद प्रतिनिधि बिजेंद्र सागर, सहन्सरपाल सिंह, राजेंद्र, ब्रजपाल, मनोज जाटव मौजूद रहे।

चेन लुटेरे को महिलाओं ने धुना

ladies beaten chain snatcher
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
 शास्त्रीनगर में गोल मंदिर के पास शुक्रवार दोपहर बाइक सवार दो युवकों ने एक महिला से चेन झपट ली। इस पर महिला और उसके साथ एक अन्य महिला लुटेरों के पीछे दौड़ पड़ीं और बाइक पर पीछे बैठे युवक को पकड़ लिया। जबकि दूसरा बाइक छोड़कर भाग निकला। पकड़े गए आरोपी को महिलाओं और लोगों ने जमकर धुना। महिलाएं पुलिस के सामने ही युवक को पीटते हुए थाने तक ले गईं।
सूरजकुंड निवासी राजीव गर्ग की पत्नी ममता गर्ग अभिलाषा फाउंडेशन की संस्थापिका हैं। शुक्रवार दोपहर ममता अपनी सहेली रश्मि अग्रवाल निवासी न्यूमोहनपुरी के साथ पैदल ही सेंट्रल मार्केट में सामान खरीदने जा रही थीं। गोल मंदिर के पास पीछे से पल्सर बाइक पर पहुंचे दो युवकों ने ममता की चेन झपट ली। इस पर दोनों महिला शोर मचाते हुए बाइक के पीछे दौड़ पड़ीं और पीछे बैठे लुटेरेे की शर्ट पकड़ बाइक को गिरा दिया। इस दौरान बाइक चलाने वाला युवक बाइक छोड़कर भाग निकला। जबकि महिलाओं और आसपास के लोगों ने पकड़े गए युवक की जमकर पिटाई की। सूचना पर इंस्पेक्टर नौचंदी एसके राणा भी पहुंचे। पुलिस को देखकर युवक बेहोश होने का नाटक करने लगा। इस दौरान पुलिस ने जैसे ही लुटेरे को जीप में बैठाने की कोशिश की तो महिलाओं फिर उसे उतार लिया और चप्पलों से पीटा। थाने में लोग लुटेरे को लेकर पहुंचे और पीछे पुलिस थी। हंगामे की सूचना पर सीओ सिविल लाइन रितेश कुमार भी पहुंच गये। इंस्पेक्टर नौचंदी ने बताया कि महिला की तहरीर पर पकड़े गए युवक रवि पुत्र संत सिंह निवासी पूठा थाना टीपीनगर और फरार आरोपी परविंदर निवासी मलियाना के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पल्सर बाइक परविंदर की है, जिसका नंबर फर्जी मिला। रवि ने बताया कि वह पुताई का काम करता है, जो टीपीनगर, कंकरखेड़ा और शास्त्रीनगर में आठ-दस लोगों से चेन, पर्स और मोबाइल लूट चुका है।

लूट के बाद नाली में फेंकी चेन
दोनों महिलाओं ने जब रवि से चेन मांगी तो उसने कहा कि वो दूसरा साथी लेकर भाग गया। पुुलिस के सामने ही महिलाओं ने लुटेरे पर खूब चप्पल बरसायीं। बाद में लुटेरे ने बताया कि चेन उसने नाली में फेंक दी। जिसके बाद नाली से चेन बरामद की। लोगों ने कहा कि चेन मिलने पर छोड़ दिया जाए, जिस पर दोनों महिलाओं ने कहा कि आज हमारी चेन लूटी है, कल किसी और के साथ लूट होगी। इसे जेल भिजवा के ही मानेंगी।

चलती कार में गैंगरेप होने पर भड़का जनाक्रोश

pepole protest after gangrape
फाइल फोटोPC: अमर उजाला
भीख मांगकर परिवार का पेट पालने वाली महिला से चलती कार में गैंगरेप की घिनौनी वारदात को लेकर जन आक्रोश है। पुलिस दरिंदों को पकड़ने के बजाय मामले में लीपापोती करने में जुटी है। दो दिन बाद भी दरिंदों का पता लगाने के लिए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज तक नहीं देखी। दिनभर लोगों ने अधिकारियों के ऑफिसों में हंगामा किया।

बेगमपुल पर भीख मांगकर लौटती महिला को बुधवार रात कार सवार युवकों ने 100 रुपये देने का इशारा देकर बुलाया और कार में डालकर ले गए। रातभर हाईवे पर चारों ने उससे गैंगरेप किया और कंकरखेड़ा थानाक्षेत्र में हाईवे पर फेंककर भाग गए। बृहस्पतिवार सुबह महिला खेत में पड़ी मिली। शुक्रवार को अखबारों में समाचार प्रकाशित होने पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। भाजपा महानगर अध्यक्ष करुणेश नंदन गर्ग, सामाजिक संस्था कार्यकर्ताओं ने एसपी सिटी, एसएसपी, डीआईजी और फिर आईजी ऑफिस में हंगामा किया। साथ ही पुलिस पर मामले को दबाने का आरोप लगाया।

किस काम के सीसीटीवी कैमरे
शहर के अधिकांश चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। घटनास्थल जीरो माइल पर भी कैमरा लगा हुआ है। दरिंदों ने महिला को परतापुर-कंकरखेड़ा बाईपास पर रातभर घुमाया। जहां 22 कैमरे निगरानी कर रहे हैं। लेकिन घटना के दो दिन बाद भी पुलिस ने फुटेज चेक नहीं की है।

लालकुर्ती थाने में केस ट्रांसफर
महिला का अपहरण जीरो माइल से होना बताया गया है। इसे देखते हुए कंकरखेड़ा पुलिस ने शुक्रवार को मुकदमा लालकुर्ती थाने में ट्रांसफर कर दिया। कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल का कहना था कि लालकुर्ती पुलिस ही विवेचना करेगी। इस मामले में हमारा कोई रोल नहीं है।