Monthly Archives: December 2018

सेंट जेवियर्स गर्ल्स स्कूल में मल्टीपल इंटेलिजेंस टैस्ट का किया गया आयोजन

सेंट जेवियर्स गर्ल्स स्कूल में मल्टीपल इंटेलिजेंस टैस्ट का आयोजन किया गया।इस ऑनलाइन टेस्ट में मल्टीपल इंटेलिजेंस अभिरुचि और रीजनिंग के प्रश्न पूछे गए। दोपहर 12 बजे शुरू हुई परीक्षा में स्टूडेंट्स को 150 प्रश्न हल करने थे। मल्टीपल इंटेलिजेंस टेस्ट के लिए 120 प्रश्न व दूसरे खंड के लिए 30 प्रश्न निर्धारित थे। जिसे स्टूडेंट्स ने समय रहते हल कर लिया। क्लास 1 से 12वीं तक के स्टूडेंट्स में गजब का जोश दिखा। स्टूडेंट्स ने निर्धारित समय से पहले ही सभी क्वेश्चन सॉल्व कर दिए। इस अवसर पर पैरेंट्स ने बताया कि बच्चों के इंटेलिजेंस जानने के लिए विद्यालय का यह कदम काफी सराहनीय है।

सेंट जेवियर्स वर्ल्ड स्कूल, मीरापुर केबच्चों ने एजूकेशनल टूर में उठाया जमकर आनंद


शिक्षा के साथ ऐतिहासिक स्थलों के बारे मे जागरूक करने के उद्देश्य से सेंट जेवियर्स वर्ल्ड स्कूल मीरापुर स्कूल के बच्चों को आगरा स्थित ताजमहल का भ्रमण कराया गया। विद्यार्थियों को ताजमहल के इतिहास के बारे में जानकारी दी गई। कक्षा 6 से 10 तक के विद्यार्थियों के लिए एक शैक्षिक भ्रमण का आयोजन किया गया। भ्रमण के दौरान ताजमहल को देखकर बच्चे हैरत में पड़ गए। ताजमहल की ऐतिहासिक जानकारी हासिल की। फतेहपुर सिकरी पहुंचकर वहां के बुलंद दरवाजा, शेख चिश्ती की मजार का भ्रमण कर आगरा पहुंचे एवं विभिन्न ऐतिहासिक जानकारी प्राप्त की।
बच्चों को स्मारकों की जानकारी विस्तार के साथ दी गई। छात्रों ने विदेशी पर्यटकों से बात भी की।बच्चों ने इस अवधि को रोमांचकारी पल व जीवन के लिए अविस्मरणीय पल बताया। विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती शैली गांधी ने कहा कि इस तरह के भ्रमण से बच्चों को काफी सीखने को मिलता है।
Attachments

बच्चों के अंदर के इंटेलिजेंस को परखेगा एक खास टेस्ट-एमआई टेस्ट (multiple intelligences test)


आपका बच्चा पढ़ने में कैसा है, उसकी रूची किस विषय को लेकर है। आगे बच्चा डॉक्टर बनना चाहता है या इंजीनियर या फिर स्पोर्ट्स मैन। माता-पिता को यह समझ पाना बड़ा ही कठिन लगता है। ऐसे बच्चों के अंदर के इंटेलिजेंस को परखेगा एक खास टेस्ट।
एमआई टेस्ट (multiple intelligences test)
आज के प्रतियोगी युग में बच्चों के लिए सही करियर के विकल्प का चुनाव एक बड़ी चुनौती है। हर बच्चे की इंटेलिजेंस अलग होती है और अभिभावकों व विद्यालयों के लिए बच्चे की सही इंटेलिजेंस का आंकलन करना आसान नहीं होता है।

प्रधानाचार्य श्रीमती विभा गुप्ता ने प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए बताया की शांति निकेतन विद्यापीठ द्वारा मल्टीप्ल इंटेलिजेंस टेस्ट का आयोजन कराया जा रहा है i बहुत लोग केवल अच्छे IQ लेवल को ही एक इंसान की बुद्धिमत्ता का मापदंड मानते हैं. लेकिन प्रोफेसर होवार्ड गार्डनर के हिसाब से हम सबमे अनेक बुद्धिमात्तायें होती है. इन्हें जानकार आपको अपने बारे में बहुत Clarity आती है. MI Test के द्वारा इनका पता लगाना बहुत आसान होता है, जिससे आप अपनी ख़ास बुद्धिमत्ता को उभार कर उस क्षेत्र में महान सफलता पा सकते हैं.
प्रधानाचार्य श्रीमती विभा गुप्ता ने बताया कि प्रोफेसर हावर्ड गार्डनर ने बच्चों की इंटेलीजेंस का पता लगाने के लिए अलग-अलग इंटेलिजेंस के आधार पर मल्टीपल इंटेलिजेंस (एमआई) टेस्ट की रूपरेखा तैयार की थी। इस टेस्ट से बच्चों की इंटेलिजेंस और इंट्रेस्ट का पता लगाया जाता है। एमआई टेस्ट में भाग लेने के लिए बच्चों को रजिस्ट्रेशन कराने के बाद एक निश्चित स्थान पर टेस्ट देने के लिए जाना पड़ता है। करियर काउंसिलर के माध्यम से एमआई टेस्ट में भाग लेने का खर्च करीब 2000 से 4000 रुपए आता है, लेकिन यहां टेस्ट की फ़ीस निशुल्क होगी। देश के किसी भी एजुकेशन बोर्ड से पढ़ाई कर रहे कक्षा 6 से 12 तक के विद्यार्थी इस टेस्ट में भाग ले सकते हैं।

टेस्ट को दो भागों में बांटा गया है। पहला भाग मल्टीपल इंटेलीजेंस टेस्ट का होगा। इसका मकसद यह पता लगाना होगा कि बच्चे में किस तरह की मेधा (इंटेलिजेंस) है। टेस्ट के दूसरे भाग में बच्चों के एप्टीट्यूड का निर्धारण करेगा। मल्टीपल इंटेलीजेंस टेस्ट में एक स्टेटमेंट के आधार पर बच्चों को अपनी पसंद या नापसंद के हिसाब जवाब देना होगा। एप्टीट्यूड टेस्ट में मल्टीपल चॉइस क्वेशचस पूछे जाएंगे।
शांति निकेतन विद्यापीठ द्वारा नगीन ग्रुप के तत्वाधान में यह टेस्ट कराने का फैसला इस उद्देश्य किया है कि देश के लाखों बच्चों तक इसकी पहुंच हो सके और देश का भविष्य माने जाने वाले बच्चों को एक बेहतर भविष्य बनाने में मदद मिल सके।