Monthly Archives: September 2018

सेंट जेवियर्स गर्ल्स स्कूल में संस्कारशाला गतिविधियों का आयोजन



सेंट जेवियर्स गर्ल्स स्कूल में दैनिक जागरण की ओर से संस्कारशाला गतिविधियों का आयोजन किया गया। इसमें विद्यार्थियों को संस्कारों के प्रति जागरूक किया गया।
स्कूल प्रधानाचार्या निधि मलिक ने कहा कि बच्चे संस्कारवान होंगे तो समाज अच्छा होगा और अगर समाज अच्छा होगा तो देश अच्छा बनेगा। अच्छे संस्कारों से ही बेहतर समाज का निर्माण किया जा सकता है। दैनिक जागरण का संस्कारशाला कार्यक्रम काफी सराहनीय है। यह एक ऐसा विषय है, जिसमें आज हम आगे निकलते हुए भी पिछड़ रहे हैं। संस्कारों की बातें बहुत हो रही हैं, लेकिन फिर भी संस्कारों को छोड़ रहे हैं। संस्कारों का होना बेहद जरूरी है।

सेंट जेवियर्स वर्ल्ड स्कूल मीरापुर मे शिक्षक दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया

Children dressed in Krishna and Radha costumes taking part in the fancy dress competition at St Xaviers world school ,Meerapur during Krishna Janmashtami celebration


जन्माष्टमी के अवसर पर स्कूल में फैंसी ड्रेस कॉम्पिटीशन का आयोजन किया गया! बच्चों को श्रीकृष्ण और ग्वालों के रूप में सजा-संवारकर तैयार किया गया। ऐसे आयोजनों में बच्चो ने खुशी-खुशी भाग लिया। बच्चों की प्रस्तुति से ऐसा लग रहा था मानो पूरा वृंदावन और बृज ही जन्माष्टमी मनाने सेंट जेवियर्स वर्ल्ड स्कूल, मीरापुर के प्रांगण मे उतर आया हो।
प्रधानाचार्या श्रीमती शैली गांधी ने बच्चों का उत्साहवर्धन किया एंव बेहतर साज-सज्जा वाले बच्चों को उनके अभिनय और ड्रेस को देखते हुए पुरस्कृत किया गया।

जैन इंटरनेशनल स्कूल हस्तिनापुर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया


जैन इंटरनेशनल स्कूल हस्तिनापुर में कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े धूमधाम के साथ मनाया गया। इस मौके पर रंग बिरंगे परिधानों में बच्चों ने राधा कृष्ण की झांकी प्रस्तुत की। उन्हे इस पर्व के महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।
बच्चों को मुरली, मोरपंख, माखन, मिश्री के शब्दों से परिचित कराया गया तथा कृष्ण के विभिन्न नाम कृष्णा, गोपाल, लल्लाजी, मुरलीधर, मधुसूदन, माधव, कान्हा, मोहन के बारे में बताया गया। इस मौके पर बच्चों ने दही हांडी का भी आनन्द लिया।
प्रधानाचार्या डा रितु राजवंशी ने इस पर्व की बधाई देते हुए कहा कि कृष्ण के जीवन से सदा कुछ सीखते रहना चाहिये। हमें प्रण लेना चाहिए कि बिना किसी फल की चिन्ता किये इमानदारी के साथ अपना करना चाहिये।