विषाक्त कॉफी से पूरा परिवार बेहोश

vishakt cophy pine se pura priwar behosh
मेरठ – फोटो : अमर उजाला ब्यूरो
 लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के मजीद नगर में बुधवार रात एक ही परिवार के आठ सदस्यों की हालत बिगड़ने से हड़कंप मच गया। बताया गया कि इन सभी ने खीर खाने के बाद कॉफी पी थी। आरोप है कि कुनबे की एक महिला अपने घर से खीर बनाकर लाई थी। बाद में उसने ही कॉफी भी बनाई थी। आरोप है कि कॉफी में कीटनाशक पदार्थ मिलाकर दिया गया। हालांकि अस्पताल में सभी की हालत खतरे से बाहर बताई गई। इंस्पेक्टर के अनुसार तहरीर मिलने पर जांच के बाद कार्रवाई होगी।

पुलिस के अनुसार मजीद नगर में दो सगे भाइयों साजिद और शकील का संयुक्त परिवार एक ही मकान में रहता है। बुधवार रात कुनबे की ही एक महिला अपने जवान बेटे और बेटी के साथ साजिद के घर आई। वो अपने साथ खीर बनाकर लाई थी। उसने साजिद और शकील दोनों भाइयों के परिजनों को ये खीर खिलाई। कुछ देर बाद इस महिला ने वहीं पर अपने हाथ से कॉफी बनाई। कॉफी भी सभी ने पी। देर रात इस महिला के बेटे और बेटी के साथ जाने के बाद परिवार के सदस्यों को बेहोशी छा गई।
आसपास मचा हड़कंप
बृहस्पतिवार दोपहर तक भी जब घर से किसी की आवाज नहीं आई तो पड़ोसी मोबीन ने उनके यहां जाकर देखा। दरवाजा खुला था। अंदर गया तो परिवार के लोगों को बेहोशी की हालत में पाकर हड़कंप मच गया। आसपास के लोगों के सहयोग से सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। रात को चिकित्सकों ने सभी आठों सदस्यों की हालत में सुधार बताया।
इंस्पेक्टर लिसाड़ी गेट मौ. असलम ने बताया कि सूचना पूरे परिवार को जहर देने की उड़ी थी। लेकिन साजिद ने अपने कुनबे की महिला पर ही कॉफी में कीटनाशक पदार्थ मिलाकर देने का मौखिक आरोप लगाया। लेकिन देर रात तक किसी भी पक्ष ने तहरीर नहीं दी है। तहरीर के आधार पर ही मामला दर्ज कर जांच की जाएगी। वहीं, युवा सेवा समिति के अध्यक्ष बदर अली ने घटना की रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की।
इनकी बिगड़ी हालत
साजिद (27) पुत्र सईद, सना (8) पुत्री साजिद, सीमा (25) पत्नी साजिद, शकील (45) पुत्र सईद, नाजिया (14), आयशा (16) पुत्री शकील, इरम (11) पुत्री शकील, आसमां (65) पत्नी सईद।
अपनों पर ही शक की सुुई 
मेरठ। पुलिस के अनुसार साजिद और शकील के परिवार के सभी सदस्यों ने खीर खाई थी। लेकिन उस महिला और उसके पुत्र और पुत्री ने कॉफी नहीं पी। तीनों की हालत भी ठीक थी। वो अस्पताल में भर्ती भी नहीं थे। शक होने पर महिला ने पूछताछ में बताया कि उसने बुधवार रात को घर पर जल्दी खाना खा लिया था इसलिए उसे भूख नहीं थी। इस वजह से ही उसने खीर नहीं खाई और न ही काफी पी। पुलिस को इस पर भी संदेह है कि जब परिवार की ही एक महिला की तबियत ठीक थी तो उसने बाकी सदस्यों की तबियत खराब होने की सूचना क्यों नहीं दी। इस पर उसका तर्क था कि उसे भी गहरी नींद आ गई थी। वहीं घटना के बाद पुलिस जांच करने घर पहुंची तो सभी बर्तन भी साफ करके रखे गए थे।
सभी तथ्यों पर जांच
सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ल के अनुसार सभी सदस्यों की हालत ठीक है। हो सकता है कि खीर या कॉफी दूषित होने से सभी की हालत बिगड़ी हो। तमाम तथ्यों पर चिकित्सकों से बात की जाएगी। पीड़ित परिवार आरोप तो लगा रहा है। लेकिन तहरीर नहीं मिली है। जांच के बाद केस दर्ज किया जाएगा।

Leave a Reply