बुखार से दो भाइयों समेत 12 की मौत

28_09_2016-27srd3-c-1

मेरठ : बुखार की तपिश थमने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार को जिले में दर्जनभर लोग जानलेवा बुखार की भेंट चढ़ गए। सरधना के कुलंजन गांव में इरफान के पुत्र अरमान (5) को चार दिन पूर्व बुखार आया था। मेरठ में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके बाद अरमान के बड़े भाई फरमान (6) को भी बुखार की शिकायत हुई। परिजन उसे लेकर मेडिकल कालेज पहुंचे, लेकिन उन्हें टरका दिया गया। कंकरखेड़ा के एक नर्सिग होम में उसे भर्ती कराया गया,जहां मंगलवार को फरमान की भी मौत हो गई। दो बच्चों की मौत से परिजनों पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा। दो बच्चों की मौत की जानकारी होने पर गांव में स्वास्थ्य शिविर लगाया गया।

ऐंची व पूठी में दो वृद्धों की मौत

परीक्षितगढ़ के पूठी निवासी 69 वर्षीय छंगामल गर्ग पांच दिन से बुखार से पीड़ित थे। सोमवार देर शाम छंगामल गर्ग की मेरठ में उपचार के दौरान मौत हो गई। ग्राम ऐंची कला निवासी 64 वर्षीय टीकम ¨सह भी चार दिन से बुखार से पीड़ित थे। सोमवार देर शाम टीकम ¨सह की मौत हो गई।

इंचौली में चार ने दम तोड़ा

इंचौली के गांव पबला निवासी राजकुमार उर्फ राजू (29) पुत्र सतवीर की मंगलवार को सुबह मौत हो गई। उन्हें दो दिन से बुखार था। इंचौली निवासी शमशीदा (48) पत्नी जमील ने भी मंगलवार सुबह बुखार से दम तोड़ दिया। पबला निवासी ब्रह्म सिंह पुत्र सुक्खन सिंह व इंचौली निवासी करीमुद्दीन ने सोमवार रात दम तोड़ दिया था। भावनपुर के अब्दुल्लापुर गांव में मोहल्ला बाजार निवासी आबिदा (62) पत्नी अलीशान पिछले तीन हफ्तों से बुखार से पीडित थी। सोमवार रात आबिदा की मौत हो गई। कोट मोहल्ला निवासी नसीमा (75) पत्नी सैय्यद जामिन अहमद बीते रविवार को बुखार की चपेट में आई थीं। मंगलवार को उन्होंने दम तोड़ दिया। अहमदपुरा मोहल्ला निवासी 65 वर्षीय कलवाराम पुत्र स्व. गो¨वदराम ने भी बुखार में दम तोड दिया। माछरा में पूर्व सैनिक माछरा निवासी कन्नूदत्त शर्मा को तेज बुखार आने पर परिजनों ने उन्हें मेरठ के एक नर्सिग होम में भर्ती कराया था। जिनकी उपचार के दौरान अस्पताल में मौत हो गई।

Leave a Reply